ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
योगी राज में बदरंग होता सत्ता का चेहरा
September 12, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

 

इन तीन चित्रों से लगता है हालातो और क़ानून की स्थिति का वास्तविक अंदाजा

फतेहपुर। गंगा और यमुना के दोआबे में स्थित यह जनपद सत्ता के बदरंग होते चेहरे का कुछ इस तरह आइना प्रस्तुत कर रहा है कि आम व्यक्ति भी सहज कहने लगा है कि वास्तव में योगीराज में सिस्टम से खिलवाड़ वहीं कर रहें हैं, जिनके ऊपर व्यवस्था को सजाने और संवारने की जिम्मेवारी है।
उपरोक्त तीन चित्रों से काफी कुछ स्थिति स्वतः स्पष्ट हो जाती है। पहला चित्र शहर के पटेल नगर चौराहे के निकट का है। पथरकटा- स्टेशन जाने वाले मार्ग से पटेल नगर से कचहरी जाने वाले प्रमुख लिंक पिछले को पिछ्ले लगभग एक वर्ष से सिर्फ़ दबंगई के बल पर अवरुद्ध किया गया है। कारण है सत्तारूढ़ भाजपा की वरिष्ठ विधायक कृष्णा पासवान। क्योंकि लम्बे समय से उनके बंगले के अन्दर निर्माण कार्य चल रहा है, इसलिए निर्माण समाग्री को रोड पर ही डाला जाता है। माननीया के बंगले के निर्माण में कोई दिक्कत न हो इसलिए आम लोगों के साथ साथ सिस्टम के जिम्मेदार भी घूमकर निकल जाते है, क्या मजाल कि कोई ज़िम्मेदार बन्द रोड को खुलवाने की हिमाकत कर सके।
दूसरा चित्र भारतीय जनता युवा मोर्चा के एक प्रमुख पदाधिकारी के लग्ज़री वाहन का है, जिसमें नम्बर प्लेट क्यों नहीं है, यह पूछने की कूवत बड़े से बड़े अधिकारी की नहीं है। बताते है कि पिछले माह एक ट्रैफिक होमगार्ड ने इस लग्ज़री वाहन को हाथ देने की गुस्ताखी कर दी थीं, जिसके बाद जिसके बाद टीआई को हाथ जोड़ कर माफी मांगनी पड़ी, तब जाकर होमगार्ड की नौकरी बची।
क्योंकि योगीराज में जिम्मेदार ही सिस्टम की धज्जियां उड़ा रहे है, इसलिए आमजन को भी नियमो से खिलवाड़ का मौका मिल गया है। तीसरी फोटो एक परिवहन कर्मी की बाइक की है। इस कर्मचारी का कहना है कि उसकी हाल में लोकल शादी हुई है, सवा लाख की बिना नम्बर की बाइक से ससुरालीजनो पर भौकाल गाठना आसान होता है। उक्त बाइक की नम्बर प्लेट में रजिस्ट्रेशन नम्बर की जगह बड़ा बड़ा परिवहन कर्मी लिखा है।
कुल मिलाकर इन तीन चित्रों से इस बात का सहज अंदाजा लगाया जा सकता है कि वास्तव में सिस्टम के साथ साथ हालातो और नियम कानून की क्या स्थिति है।