ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
विकासखंड भिटौरा क्षेत्र में सार्वजनिक वितरण प्रणाली होती जा रही पग्गू
October 2, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

विकासखंड भिटौरा क्षेत्र में सार्वजनिक वितरण प्रणाली होती जा रही पग्गू

फतेहपुर। विकास खण्ड भिटौरा में सार्वजनिक वितरण प्रणाली पूरी तरह से पग्गु हो गयी है,सरकार के तमाम दावे हासिए पर चले गए,कोटेदारों और अधिकारिओ की मिली भगत से बने रैकेट के आगे उपभोक्ता अपने आप को ठगा महसूस कर रहा है, की आखिर! जाए तो जाए कहा? सुनेगा कौन यहाँ?
मिली जानकारी के अनुसार प्रदेश सरकार ने लकडाउन के चलते अपनी रोजी रोटी गवा चुके लोगो और बाहर से अप्रवासी मजदूरो के लिए निःशुल्क खाद्यान का वितरण कराया लेकिन कोटेदारों ने खुलेआम शासनादेश की धज्जियां उड़ा दी जिससे उपभोक्ता को छला गया उसे मानक के अनुरूप खाद्यान्न के साथ-साथ चने का भी वितरण दो किलो की जगह एक किलो  किया गया भिटौरा विकासखंड की 5 दर्जन से अधिक राशन की दुकानों का की पड़ताल बाद जो तथ्य उभरकर सामने आए उसमें यह स्पष्ट दिखा कि कोटेदारों ने खुलेआम खाद्यान्न को बिचौलियों के हवाले कर दिया जिससे पूरी मशीनरी शक के दायरे में आ गई नरौली के गंगा विशुन ने जब जिला पूर्ति अधिकारी से शिकायत की तो कोटेदार ने उसे यह कहकर धमका दिया की जो करना हो कर लो हमें भी ऊपर समझना पड़ता है इसी तरह जवाब चांदीपुर, सहनीपुर, रसूलपुर लालीपुर सेनपुर मैथयापुर गोवर्धनपुर ओढेरा, कैथपुरवा , नौगांव ,हैबतपुर, मकनपुर, मालीपुर,अहमदपुर, बेरागढ़ीवा , ,मिर्जापुर, भिटारी, सराय डाडीरा बमरौली सरैला, भिटौरा, बसोहनी, देवहालीआदि गांवो में इसी तरह के हालात हैं  कई लोग मुख्यमंत्री पोर्टल पर की शिकायत  करते हैं अपने ही सरकार के खिलाफ लोगो का गुस्सा साफ दिखाई दे रहा है अधिकारियों की कार्यशैली में बदलाव ना हुआ तो विपक्ष के नेता सैकड़ों लोग  के साथ जिला पूर्ति कार्यालय में धरना देंगे जब तक शासन की मंशा के अनुसार अधिकारी काम ना करेंगे तब तक यह धरना चलता रहेगा उधर समाजवादी पार्टी के पूर्व जिला सचिव डॉ गार्गीदीन बाजपेई ने खुलेआम जिला पूर्ति अधिकारी पर रिश्वतखोरी कालाबाजारी का आरोप लगाया उनका कहना है कोटेदारों से हर महीने नजराना लिया जाता है अधिकारियों ने एक रैकेट बना रखा है जो सारे कोटेदारों से पैसा वसूल कर सीधे अधिकारियों को हर महीने पहुंचाता है उधर इस बारे में लग रहे आरोपों पर जिला पूर्ति अधिकारी अंजनी सिंह के रवैया वा कार्यशैली पर सवाल उठना लाजिमी है।