ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
उत्तर प्रदेश सतत विकास लक्ष्य के इंडिकेटर्स के संबंध में जिला अधिकारी की अध्यक्षता में बैठक संपन्न
November 5, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश सतत विकास लक्ष्य के इंडिकेटर्स के संबंध में जिला अधिकारी की अध्यक्षता में बैठक संपन्न

फतेहपुर। जिलाधिकारी की अध्यक्षता में विकास भवन सभागार में उत्तर प्रदेश सतत विकास लक्ष्य के इंडिकेटर्स के संबंध में बैठक की गई।
जिलाधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि सतत विकास लक्ष्य दृष्टिकोण पत्र 2030 योजनागत अभ्यास और रणनीतियों का एक क्रमबद्ध संकलन है जिसे संबंधित विभागों द्वारा कई चरणों में गहन विचार-विमर्श के उपरांत तैयार किया गया है। सतत विकास लक्ष्य के मुख्य सिद्धांत 5P अर्थात पीपल प्रोस्पेरिटी पीस पार्टनरशिप एवं प्लेनेट अर्थात सब लोग संपन्नता शांति साझेदारी एवं पृथ्वी पर आधारित है ।
सतत विकास लक्ष्य हेतु कुल 17 गोल निर्धारित किए गए हैं जिसके अंतर्गत 169 लक्ष्य हैं ।उत्तर प्रदेश में 16 गोल प्रस्तावित है जिनका विवरण निम्नवत है 1 गरीबी उन्मूलन 2 भुखमरी समाप्त करना 3 सभी के लिए स्वस्थ जीवन 4 गुणवत्तापूर्ण शिक्षा 5 लैंगिक समानता 6 सुरक्षित जल एवं स्वच्छता का सतत प्रबंधन 7 किफायती शतक और आधुनिक ऊर्जा 8 उचित कार्य एवं आर्थिक विकास 9 समावेशी एवं  संधारणीय औद्योगिकीकरण 10 असमानता कम करना 11 समावेशी एवं सुरक्षित शहर 12 सतत  उपभोग एवं उत्पादन 13 जलवायु परिवर्तन 14 भूमि पर जीवन 15 शांतिपूर्ण एवं समावेशी संस्थाओं का निर्माण 16 लक्ष्मण के लिए भागीदारी ।
इन गोलों पर निर्धारित लक्ष्यों की पूर्ति हेतु राज्य स्तर पर नोडल अधिकारी नामित किए गए हैं, जिसके क्रम में जनपद स्तर पर भी नोडल अधिकारी नामित है।
सभी नोडल अधिकारियों को निर्देश दिए गए कि वह अपने से संबंधित गोल्स पर निर्धारित प्रारूप के अनुसार संबंधित विभागीय अधिकारियों के साथ समन्वय स्थापित कर सूचना एकत्रित कर जिला एवं अर्थ एवं संख्या अधिकारी को प्रत्येक माह की 15 तारीख तक प्रत्येक दशा में उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें ।साथ ही जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी को निर्देश दिए गए कि इन लक्ष्यों के निर्धारण हेतु प्रत्येक माह एक बैठक का आयोजन किया जाए ।
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी, उपनिदेशक कृषि ,प्रभारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी, अपर जिलाधिकारी, अपर पुलिस अधीक्षक इत्यादि सभी संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।