ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
उपचुनाव को लेकर बांगरमऊ विधानसभा में उहापोह के बीच लगाए जा रहे हैं नित कयास
September 10, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

 

उन्नाव।जनपद के बांगरमऊ विधानसभा के उपचुनाव को लेकर उहापोह के बीच नित कयास लगाए जा रहे है यू तो बांगरमऊ से श्रीमती संगीता सेंगर,अरुण सिंह,शशांक शेखर सिंह,ज्ञानेंद्र शुक्ला,ममता सिंह,ज्ञानेंद्र सिंह,महेश दीक्षित,श्रीकांत कटियार,अवधेश कटियार,सरोज सिंह चौहान,आदि के चर्चा में चल रहे थे लेकिन नित नई परिस्थितियों के मद्देनजर बीजेपी हाइकमान  ने महेंद्र सिंह मंत्री  प्रदेश सरकार को प्रभारी बनाकर एक वर्ग को आत्मसात करने की कोशिश करते हुए उस वर्ग के दावेदारों को अनअपेक्षित संकेत दे दिया है लेकिन वह समझने को नही है तैयार,,,वर्तमान में कुछ दिनों पूर्व एक प्रकाशित खबर से भी संकेत दिए जा चुके है ऐसा हमारे सूत्र और विश्लेषक बता रहे है अब सम्भावना यह है कि बांगरमऊ उपचुनाव में विपक्षी पार्टीयो को हतोत्साहित करने के लिये और उनके तीर कमान और प्रहार को खत्म करने के लिये ब्राम्हण समुदाय के तेजतर्रार प्रत्याशी जोर दिया जा सकता है विगत से चर्चा में है कि इन दिनों एक विपक्षी पार्टी द्वारा अधिवक्ता समुदाय से ब्राम्हण प्रत्याशी को लेकर  गहन मन्त्रणा और मजबूत प्रयास किया  जा रहा है,,, ऐसी स्थितियों में चुकी बांगरमऊ विधानसभा देशभर में विगत वर्ष से चर्चित चली आ रही है इसलिये एक तीर से कई निशाने साधते हुए बीजेपी  हाइकमान ब्राम्हण महिला प्रत्याशी पर दांव लगा सकता है वह बाहरी भी हो सकती है और स्थानीय भी,अगर ब्राम्हण महिला प्रत्याशी की बात करे तो कुछ नाम भी दमदार तेजतर्रार प्रत्याशी के रूप में आम जनता के सामने है ,एक तो संसदीय चुनाव के दौरान जमकर क्षेत्र में मेहनत करते हुए माननीय मुख्यमंत्री जी के साथ मंच साझा करने वाली सामाजिक धार्मिक पृष्ठभूमि से जुड़ी अवध क्षेत्र पदाधिकारी संध्या बाजपेयी व विगत चुनाव में भी शांतिपूर्ण तरीके दावेदारी करने वाली फौजी और शैक्षणिक पृष्ठभूमि से जुड़ी जनपद के बीजेपी संगठन में मजबूत स्तम्भ सोनी अशोक शुक्ला जोकि जिला बीजेपी उपाध्यक्ष होने के साथ ही साथ महिला मोर्चा अध्यक्ष है और महिला मतदाताओं व कार्यकर्ताओं पर मजबूत पकड़ होने के साथ प्रदेश में दिग्गजो के चुनावी अभियान को सफल बनाने में महती भूमिका निभाई,साथ ही सोनी अशोक शुक्ला बीजेपी के सभी कार्यक्रमो में प्रमुख रूप से भागीदारी करते हुए कार्यकर्ता के रूप में कार्य करते हुए अपने को खुशनसीब समझती है ,ऊक्त मूददे पर उभय बीजेपी कार्यकर्ताओं से वार्ता की गई तो बताया गया कि हम संगठन के समर्पित सिपाही है संगठन जो भी आदेश देगा उसका पालन करेंगे,,साथ ही हमारे विश्लेषक टीम से विगत कई दिनों से मन्त्रणा के बाद यह आकलन सामने आए की यदि किसी संगठन से जुड़े स्थानीय कार्यकर्ता को आलाकमान प्रत्याशी घोषित करता है तो दमदार जीत होगी हालांकि संगठन के कई पदाधिकारी इस सम्बंध में  सार्थक चूप्पी साधते हुए  टिप्पणियों से बचते नज़र आये लेकिन यह बीजेपी का आंतरिक विश्लेषण ही तय करेगा प्रत्याशी कोई भी हो सकता है घोषित क्योंकि जमीनी हकीकत से वाकिफ होते हुए जिताऊ दावेदार ही बनेगा कमल का सिपाही जनपद में लोकसभा चुनाव के दौरान जिलाध्यक्ष महिलामोर्चा सोनी अशोक शुक्ला के नेतृत्व में महिला मोर्चा पदाधिकारी व नेताओ ने जबरदस्त प्रयास कर जनपद में महिलाओं का मत प्रतिशत भी बढ़ाया जिससे देश मे 2019 लोकसभा में सर्वाधिक मतों से विजयी सीट में चौथे नम्बर पर उन्नाव लोकसभा थी,, साथ ही यह बात भी काबिले गौर है कि बांगरमऊ के 2017 विधानसभा चुनाव में जातीय मिथक को तोड़ते हुए ब्राम्हण समुदाय ने बांगरमऊ से बीजेपी प्रत्याशी को दमदारी के साथ जिताया ,,माँ गंगा के किनारे होने व पड़ोस के जनपद का बिकरू घटनाक्रम से सर्वाधिक प्रभावित सीट अगर होगी तो वह बांगरमऊ हो सकती हैं।ऐसी स्थितियों में गम्भीरता के साथ ब्राम्हण महिला प्रत्याशी की दावेदारी पर मंथन कर रहा है आलाकमान,,जनपद रायबरेली में ऊंचाहार विधानसभा में संगठन चुनाव प्रभारी ,चंदौली ,लखनऊ कैंट विधानसभा उपचुनाव में चुनाव संचालन समिति सदस्य रहकर सोनी ने महती भूमिका निभाई।