ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
त्योहारों को मद्देनजर रखते हुए जिलाधिकारी ने बैठक कर अधीनस्थों को दिए दिशा निर्देश
October 14, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

त्योहारों को मद्देनजर रखते हुए जिलाधिकारी ने बैठक कर अधीनस्थों को दिए दिशा निर्देश

फतेहपुर।  17 से 24 अक्टूबर तक शारदीय नवरात्रि तथा 25  अक्टूबर को विजयदशमी(दशहरा) पर्व मनाये जाने के दृष्टिगत संम्पूर्ण जनपद में साफ-सफाई, विद्युत, पेय जल, सुरक्षा एवं शान्ति व्यवस्था बनाये रखने हेतु जिलाधिकारी  संजीव सिंह की अध्यक्षता में विकास भवन सभागार में एक महत्वपूर्ण बैठक सम्पन्न हुई । जिलाधिकारी ने कहा कि दुर्गा पूजा के दौरान सड़को, चौराहो पर कोई मूर्ति नही रखी जायेगी । इस दौरान प्रत्येक आयोजन के लिए संबंधित उपजिलाधिकारी से अनुमति लेनी होगी उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी को दृष्टिगत रखते हुए अपने परिवार एवं समाज को इस वाइरस से बचाना है, इसलिए परम्परागत ढंग से मूर्ति की स्थापना जुलूस एवं विसर्जन की व्यवस्था में बदलाव किया गया है । उन्होंने कहा कि सोसल मीडिया पर दी गयी किसी सूचना के बारे में पहले संबंधित उपजिलाधिकारी, क्षेत्राधिकारी या थाना प्रभारी से असलियत जान लें । किसी के भ्रम या बहकावे में न आये । उन्होंने बताया कि शारदीय नवरात्रि 17 अक्टूबर से शुरू हो रहे है । इस दौरान महाष्टमी 23 अक्टूबर, महानवमी 24 अक्टूबर, विजयदशमी (दशहरा) 25 अक्टूबर वरावफ़ात 30 अक्टूबर , बाल्मीकि जयंती 31 अक्टूबर, धनतेरस 12 नवम्बर, छोटी दीपावली 13 नवम्बर एवं बड़ी दीपावली 14 नवम्बर, गोवेर्धन पूजा 15 नवंबर, भैया दूज 16 नवम्बर तथा छठ पूजा 20 नवंबर को मनाया जाएगा । उन्होंने सभी आयोजको से कहा कि आयोजन स्थल पर पब्लिक एड्रेस सिस्टम अनिवार्य रूप से लगाया जाये और मास्क का प्रयोग एवं खेतो में पराली न जलाये ,के लिए लोगो को जागरूक करें। उन्होंने भारत सरकार एवं उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा त्यौहारों के दौरान कोविड-19 महामारी बचाव एवं रोकथाम के बारे में जारी गाइडलाइन से अवगत कराते हुए कहा कि प्रत्येक समिति अपने सदस्यों एवं पदाधिकारियों के नाम , पते एवं मोबाइल नंबर सहित सूचना संबंधित थाने में देंगे । मूर्ति विसर्जन के समय उपस्थित सदस्यो की भी जानकारी देंगे । आयोजन स्थल पर सेनेटाईजर, थर्मल स्क्रीनिग, मास्क रखेंगे, सोसल डिस्टेंसिंग(06 फुट दूरी) बनाने के लिए वालंटियर्स सक्रिय करे , प्रांगण में साफ-सफाई तथा डस्टबिन(ढक्क्कनदार) की व्यवस्था करें ताकि मास्क, कूड़ा करकट आदि डालने की व्यवस्था रहे और डस्टबिन के कूड़े को दूर ले जाकर जला दे । उन्होंने कहा कि मूर्ति विसर्जन में कोई जुलूस नही निकाला जाएगा , छोटे आकार की मूर्ति ही स्थापित की जाए और छोटे वाहन में मूर्ति ले जाकर निर्धारित स्थान पर विसर्जन करे । त्यौहारो के दौरान आयोजनों की वीडियोग्राफी भी करायी जाएगी ।  उन्होंने साफ तौर पर कहा कि काँटेन्टमेंट जोन में कई भी प्रकार के आयोजन की अनुमति नही दी जाएगी यदि  पाया गया तो संबंधित पर कठोर कार्यवाही की जाएगी । उन्होंने कहा कि धार्मिक कार्यक्रम अनुशासित ढंग से सम्पन्न करे । जनपद में कुल अभी तक 180 काँटेन्टमेंट जोन है। उन्होंने कहा कि मा0 सर्वोच्च न्यायालय के आदेश है कि किसानों को खेतों में पराली न जलाने दे के लिए जागरूक किया जाए, अभी तक 11 किसानों पर एफआईआर दर्ज की जा चुकी है । शासन द्वारा जारी गाइडलाइन का शत प्रतिशत पालन किया जाए । उन्होंने अधिशाषी अभियंता विधुत को निर्देश दिए कि जहाँ कही भी विद्युत तार ढीले है व पोल टेड़े है प्राथमिकता के साथ सही करा लें अन्यथा कोई अप्रिय घटना होती है तो संबंधित के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी । जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देश दिए कि ग्रामो में मन्दिर, धार्मिक स्थलों के आस पास साफ -सफाई व्यवस्था कराये व जल भराव की स्थित न हो को गंभीरता से लेते हुए कार्य किये जायें और आयोजन स्थल की वीडियोग्राफी भी कराये । उन्होंने अधिशाषी अधिकारी नगर पालिका/नगर पंचायत को निर्देश दिए कि आयोजन स्थल पर प्रतिदिन साफ सफाई कराई जाए और जल भराव की स्थित न हो । जिलाधिकारी ने आये हुए सभी संभ्रांत नागरिको से कहा कि आप लोगो का सहयोग पूर्व की भांति आपेक्षित है और आप सभी को आने वाले सभी पर्वो की हार्दिक शुभकामनाएं दी ।
पुलिस अधीक्षक प्रशांत वर्मा ने कहा कि मा0 उच्चतम न्यायालय के सख्त निर्देश है कि अच्छी भावना के साथ कार्यक्रम किये जाय कोई घटना होती है तो संबंधित के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर कठोर कार्यवाही की जाएगी ,किसी चीज को हल्के में न ले , आयोजक पूरी संवेदना और जिम्मेदारी के साथ आयोजन करें । कोविड-19 महामारी को दृष्टिगत रखते हुए ज्यादा भीड़ इकठ्ठा न होने दे मास्क और सामाजिक दूरी का पालन कराये । मूर्ति स्थापना घर-आँगन में की जा सकती है । कही भी सड़क, चौराहो पर मूर्ति स्थापित नही की जायेगी, जिससे कि मार्ग अवरुद्ध न हो । काँटेन्टमेंट जोन में किसी भी प्रकार की गतिविधि की अनुमति नही दी जाएगी । कार्यक्रम में 65 वर्ष से अधिक, गंम्भीर रोगों से ग्रसित व्यक्ति, गर्भवती महिलाओं तथा 10 वर्ष से कम आयु के बच्चे घरो पर रहे।
इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी  पप्पू गुप्ता, उपजिलाधिकारी प्रमोद झा, बिन्दकी आशीष कुमार, अपर पुलिस अधीक्षक, अपर उपजिलाधिकारी, अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी, अधिशाषी अभियंता जल निगम, विद्युत, पीडब्लूडी, ईओ, एवं समस्त क्षेत्राधिकारी, आबकारी अधिकारी, डीपीआरओ सहित शहरकाजी साईदुर्रह्मान उर्फ अब्दुल्ला, मन्दिर के पुजारी व गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे ।