ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
थाने बुलाकर सिपाही ने फौजी को पीटा, जमीन विवाद मामले में पुलिस कर रही लीपापोती
October 18, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

थाने बुलाकर सिपाही ने फौजी को पीटा, जमीन विवाद मामले में पुलिस कर रही लीपापोती

रायबरेली।रायबरेली जनपद के डीह गांव के एक फौजी को पीटने का मामला सामने आया है. जानकारी के मुताबिक यहां जमीन विवाद में एक फौजी को थाने में बुलाकर सिपाही ने जमकर पीट दिया. अब इस मामले में पुलिस दबंगों के साथ मिलकर लीपापोती में लगी है। रायबरेली जनपद में खाकी के दामन पर दाग लगा है. इसकी चर्चा पूरे जिले में हो रही है और खाकी को लोग कोसने से भी पीछे नहीं हट रहे हैं. मामला डीह थाना क्षेत्र का है, जहां थाने के एक सिपाही ने फौजी को थाने बुलाकर पिटाई कर दी. मामला पुलिस अधीक्षक के संज्ञान में आने पर जांच के बाद न्याय का आश्वासन दिया गया.

पड़ोसी से चल रहा था जमीनी विवाद

डीह थाना क्षेत्र के पूरे धनी गांव के रहने वाली राणा सिंह भारतीय सेना में नौकरी करते हैं. राणा सिंह के परिवार का पड़ोस के रहने वाले शिव प्रकाश विश्वकर्मा से जमीनी विवाद काफी दिन से चला रहा है. इस समय भी दबंगों ने फौजी की जमीन पर जबरन मिट्टी डलवाने लगे. छुट्टी पर आए फौजी ने विवाद खत्म करने का प्रस्ताव रखा लेकिन दबंग शिव प्रकाश ने अपनी पहुंच का हवाला देते हुए उसकी एक नहीं सुनी और थाने में फर्जी सूचना दे दी. सूचना पर पहुंचे डीह थाने के सिपाही अनिल कुमार विश्वकर्मा फौजी को थाने ले गए और विपक्षियों के सामने गाली देते हुए उसकी पिटाई कर दी. जब फौजी ने रोते हुए बताया कि थानाध्यक्ष डीह जेपी यादव को बताई तो उन्होंने समझौता कराकर मामला शांत कराने की बात कही.  फौजी का आरोप
फौजी ने आरोप लगाया कि यह सारा घिनौना काम गांव के प्रधान रामू मिश्रा ने कराया है. उन्होंने ही फोन करके सिपाही से कहा इसको दो-चार लट्ठ मारो जिससे कि इसकी गर्मी निकल जाए.
अपनी बेज्जती सहन ना कर पाने के बाद फौजी पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचा और एसपी से न्याय की गुहार लगाई. जैसे ही इसकी सूचना पुलिस को हुई तो सभी लामबंद हो गए और फौजी के विरुद्ध आरोपों की गोटियां बिछाना शुरू कर दीं. जिसके बाद ग्राम प्रधान व दबंग शिव प्रकाश भी पुलिस के साथ खड़े हो गए. क्योंकि मामला फौजी की पिटाई का था इसलिए डीह पुलिस दबंगों के साथ मिलकर फौजी पर ही आरोप मढ़ना शुरू कर दिया.

एसपी से की शिकायत 

जब फौजी पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचा तो फूट-फूटकर रोने लगा और पुलिस अधीक्षक से अपने साथ हुए गलत व्यवहार व अन्याय के खिलाफ न्याय की गुहार लगाना शुरू कर दिया. जब बाहर निकला तब भी फौजी फूट फूट कर रो रहा था और कह रहा था कि अगर न्याय नहीं मिला और मेरा स्वाभिमान मरा तो मैं प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ के सामने जाकर आत्मदाह कर लूंगा.
फिलहाल डीह पुलिस व दबंगों का मजबूत गठजोड़ देखने को इस बार मिल रहा है और जिस फौजी को पूरा देश सलाम करता है और वह फौजी अपने जान की बाजी लगाकर देश सेवा से पीछे नहीं हटता है उसी फौजी के सम्मान को खाकी मिट्टी में मिलाने पर तुली है. वैसे भी डीह थानेदार का विवादों से पुराना नाता रहा है.
एएसपी ने बताया कि डीह थाना क्षेत्र के पूरे धनी के रहने वाले राणा सिंह फौज में हैं, उनका शिव प्रकाश विश्वकर्मा के बीच जमीनी विवाद चल रहा है. दोनों को थाने बुलाया गया था, जहां पर राणा सिंह ने शिव प्रकाश से अभद्रता से बात की. पुलिस मामले की जांच कर रही है, जो भी विधिक कार्रवाई होगी की जाएगी।