ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
टेस्ट क्रिकेट में दर्ज है राहुल द्रविड़ ने नाम पर सबसे ज्यादा कैच, भज्जी और वीवीएस ने खूब की तारीफ
June 30, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • राष्ट्रीय

नई दिल्ली। राहुल द्रविड़ भारत के लिए खेलने वाले कई ग्रेट खिलाड़ियों में से एक रहे हैं। एक बल्लेबाज के तौर पर वो अपनी मजबूत तकनीक, धैर्य और दृढ़ता के लिए जाने जाते थे। इसके अलावा वो एक बेहतरीन फील्डर के तौर पर भी जाने जाते थे और अपने करियर में उन्होंने कई बेहतरीन कैच भी पकड़े थे। टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में वो एक बेहतरीन स्पिल फिल्डर के तौर पर देखे जाते थे और उनके नाम पर 210 कैच टेस्ट में दर्ज हैं। इनमें से ज्यादातर कैच उन्होंने स्पिल में ही लपके थे। 

भारतीय क्रिकेट टीम के लिए अपने खेलने वाले दिन में द्रविड़ ने कई रोल निभाए। वो स्पिल के फील्डर थे तो विकेट के पीछे की भूमिका भी उन्होंने निभाई। उन्होंने टीम के लिए ओपनिंग भी किया तो फीनिशर के तौर पर भी नजर आए। सौरव गांगुली के बाद उन्होंने टीम के कप्तानी भी संभाली और उनकी कप्तानी में भारत ने रिकॉर्ड लगातर 14 मैच चेज करते हुए वनडे में जीते थे। 

भारतीय स्पिनर हरभजन सिंह ने द्रविड़ के करियर के बेस्ट कैच का एक वीडियो शेयर किया और इस वीडियो के जरिए भज्जी ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। इस वीडियो के साथ उन्होंने कैप्शन दिया आउटस्टैंडिंग कैचर राहुल द्रविड़। इस वीडियो को देखते हुए ही पूर्व बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण ने तुरंत ही अपना रिएक्शन दिया और द्रविड़ के इस वीडियो और उनके कैच को सनसनीखेज करार दिया।   

राहुल द्रविड़ के नाम पर टेस्ट क्रिकेट में 210 कैच हैं और वो क्रिकेट से सबसे लंबे प्रारूप में सबसे ज्यादा कैच लेने वाले फील्डर हैं। साल 2012 में द्रविड़ ने क्रिकेट को अलविदा कह दिया था, लेकिन उनका ये रिकॉर्ड अब भी कायम है। इसके बाद दूसरे नंबर पर श्रीलंका के महेला जयवर्धने 205 कैच के साथ मौजूद हैं जबकि साउथ अफ्रीका के ऑलराउंडर जैक्स कैलिस 200 कैच के साथ टेस्ट में सबसे ज्यादा कैच लेने वाले तीसरे फील्डर हैं। 

राहुल द्रविड़ का ये रिकॉर्ड फिलहाल टूटता नजर नहीं आ रहा है क्योंकि इस वक्त टेस्ट में एक्विट कोई भी क्रिकेटर कैच लेने के मामले में 10 टेन में मौजूद नहीं है। द्रविड़ ने भारत के लिए 1999 से 2004 तक 73 वनडे में विकेटकीपिंग भी की थी जब तक टीम इंडिया को MS Dhoni नहीं मिल गए थे। द्रविड़ ने इन मैचों में 84 शिकार किए थे जिसमें 71 कैच, 13 स्टिंपिंग शामिल थे। उन्होंने भारत के लिए 164 टेस्ट मैच और 344 वनडे मैच खेले थे। टेस्ट में उनके नाम पर 13,288 रन जबकि वनडे में उनके नाम पर 10,889 रन दर्ज हैं।