ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
तेज रफ्तार बस अनियंत्रित होकर पलटी 1 दर्जन से अधिक घायल
November 18, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

तेज रफ्तार बस अनियंत्रित होकर पलटी 1 दर्जन से अधिक घायल

फतेहपुर जिले के चांदपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले मदरी गांव के पास तेज रफ्तार बस अनियंत्रित होकर पलट गई।
 जोनिया चौराहा फतेहपुर से जहानाबाद के लिए प्राइवेट बसों का संचालन किया जाता है जिसमें निश्चित अंतराल पर बसें चलती हैं और एक निश्चित समय पर ही उन्हें अपने गंतव्य स्थल जहानाबाद तक पहुंचना होता है इसी प्रकार से जहानाबाद से चलकर फतेहपुर के लिए बसें एक निश्चित समय सीमा के अंदर फतेहपुर पहुंचती हैं। परंतु ज्यादातर बस के ड्राइवर और कंडक्टर अधिक सवारियां भरने के चक्कर में जगह जगह  बसों को रोककर समय व्यतीत कर देते हैं बचे हुए समय में अधिक तेज रफ्तार से चला कर निश्चित समय पर पहुंचने का लक्ष्य पूरा किया जाता है और इसी में दुर्घटनाएं होती हैं यह कोई पहली दुर्घटना नहीं है अभी इसके पहले भी कई बार दुर्घटनाएं हो चुकी हैं पिछली दुर्घटना में 9 से अधिक जानें चली गई थी परंतु ड्राइवर और कंडक्टर को कोई असर नहीं पड़ता इसी क्रम में आज जोनिया चौराहे से प्राइवेट बस संख्या यूपी 17 सी 8737 नंबर की बस फतेहपुर से जहानाबाद के लिए रवाना हुई थी और समय से अपने गंतव्य पर पहुंचने के लिए तेज रफ्तार फर्राटा भरते हुए चली आ रही थी जैसे ही वह है मदरी के पास पहुंची तो अनियंत्रित होकर खाई में चली गई और पलट गई जिसमें। लक्ष्मी पुत्र स्वर्गीय सुरेश उम्र 50 वर्ष निवासी सुनार गली पुखराया कानपुर देहात, बछराज  सिंह पुत्र शिव गोविंद सिंह निवासी भिकनी पुर थाना चांदपुर उम्र 62 वर्ष, सावित्री वाइफ ऑफ छोटेलाल उम्र 45 वर्ष निवासी वेदा घाटमपुर कानपुर नगर, प्रशांत पुत्र रमेश उम्र 2 वर्ष निवासी बेंदा घाटमपुर कानपुर नगर सहित करीब एक दर्जन लोग  गंभीर रूप से घायल हो गए  और कई लोगों को भी चोटें आई हैं। बस के पलटने की आवाज सुनकर स्थानीय लोग दौड़ कर घटनास्थल पर पहुंचे और लोगों को निकालने का प्रयास करने लगे इसी बीच किसी ने पुलिस को फोन कर दिया तो पुलिस भी मौके पर पहुंच गई स्थानीय लोगों एवं पुलिस ने मिलकर घायलों को बस से बाहर निकाला और अस्पताल में इलाज के लिए  भर्ती कराया। प्रभारी निरीक्षक चांदपुर ने बताया कि घायलों की स्थिति स्थिर एवं खतरे से बाहर है जिनको कम चोटें आई हैं उन्हें प्राथमिक इलाज के बाद घर जाने दिया जाएगा और गंभीर रूप से घायलों को यथा स्थिति रोका जाएगा या रिफर किया जाएगा किसी प्रकार की कोई भी जनहानि नहीं हुई है।