ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
तेज हवाओं और हुई जोरदार बारिश से किसानों को लगा बड़ा झटका
September 24, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

तेज हवाओं और हुई जोरदार बारिश से किसानों को लगा बड़ा झटका

कहीं किसानों के चेहरे पर दिखी मुस्कान तो कहीं पर दिखे आंसू 

किसानों को ऊपर वाले ने दिया जोर का झटका धीरे से
            
हुसैनगंज(फतेहपुर)। 2 दिनों से चल रही तेज हवाओं और हो रही बारिश से किसानों को बड़ा झटका लगा है किसानों की लाखों रुपए लागत से तैयार हो रही धान की फसल को तेज तूफान ने ऐसा झटका दिया है कि धान की फसल खेत पर ही धराशाई हो गई है

किसान अपनी धराशाई हुई फसल को देखकर आंसू बहाने के लिए मजबूर हो गए हैं अब तो किसान यह कहते हैं कि ऊपर वाले ने हमें मार डाला है 
कल तक जो किसान पानी के लिए हाय तौबा मचा रहे थे उनके लिए बारिश और तेज हवाएं काल बनकर आ गई 2 दिनों से चल रही तेज हवाओं ने किसान की धान की फसल को खेत पर ही ढेर कर दिया है किसान सत्यम शुक्ला रामसहाय पटेल पिकू शुक्ला राहुल कुशवाहा देवी गुलाम कुशवाहा आदि ने बताया कि हम लोगों की तैयार खड़ी धान की फसल मजदूर ना मिलने के कारण कटाई शुरू नहीं कर पाए थे।
मगर हमें यह नहीं पता था कि ऊपरवाला हमारे साथ ऐसा जुल्म ढायेगा अचानक 2 दिनों से चल रही तेज हवाएं और हो रही बारिश के चलते हैं हमारी धान की तैयार फसल खेतों पर ही धराशाई हो गई है अब तो उसे  मजदूर काटने के लिए भी तैयार नहीं हो रहे।
वही कुछ किसान हुई बारिश से बहुत ही ज्यादा खुश नजर आ रहे हैं क्योंकि उनकी धान की फसल को अंतिम पानी की बहुत जरूरत थी उनकी खेतों की फसल को जैसे ही ऊपर वाले का साथ मिला मानव किसानों के चेहरे पर खुशी की लहर दौड़ पड़ी किसान पहले ही महंगा ट्यूब बेलों का पानी लगाने के लिए दिन-रात ट्यूब बेलो के चक्कर काटते थे मगर पर्याप्त बिजली ना मिलने के कारण  एक-एक खेत में दो से तीन  दिन तक पानी लगाने के लिए किसान परेशान  रहते थे
2 दिन से हो रही बरसात से किसानों के चेहरे पर खुशी की लहर दौड़ पड़ी अगर किसानों के चेहरे पर चिंता की लकीरें भी साफ दिखाई दे रही हैं कुछ किसानों का तो कहना है कि अगर अधिक बरसात हो गई तो हमारा धान पूरी तरह से बर्बाद हो जाएगा जैसे ही हवा चलने लगती है किसानों की धड़कनें बढ़ने लगती है अगर तेज आंधी इसी तरह से चलती रही तो किसान पूरी तरह से बर्बाद हो जाएगा।
 लगातार हो रही बरसात से कुछ किसानों के चेहरे पर खुशी की लहर है तो कुछ किसानों के चेहरे पर चिंता की साफ लकीरें देखने को मिल रही है किसान अपनी तैयार हुई धान की फसल को बर्बाद होता देख रहा है किसी ने सच ही कहा है ऊपर वाले के आगे किसी का जोर नहीं चलता है।