ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
तबादले के बाद भी एक माह से असोथर में जमें है केन्द्र प्रभारी भीम सिंह
August 11, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश


असोथर फ़तेहपुर पिछले कई वर्षों से सरकारी गेहूँ व धान ख़रीद में व्यापक गड़बड़झाले के कारण चर्चा में रहे हाट शाखा क्रय केंद्र असोथर के केंद्र प्रभारी भीम सिंह का स्थानांतरण हफ़्तों पहले अमौली के लिये हो गया है, बावजूद इसके वह यहाँ का कार्यभार छोड़ने को तैयार नहीं है, यह केन्द्र बौडर में संचालित हो रहा है। इनके स्थान पर केन्द्र प्रभारी अमौली का स्थानांतरण असोथर केन्द्र में हुआ है। जिलाधिकारी संजीव सिंह ने तमाम शिकायतों के चलते यें तबादले क़िये है।अभी तक केन्द्र प्रभारी भीम सिंह को असोथर से कार्यमुक्त नही किया गया है। केन्द्र प्रभारी भीम सिंह अपना स्थानांतरण रोकवाने के लिए बराबर प्रयास में है। 
     ज्ञातव्य रहे कि भीम सिंह के ऊपर शासन स्तर से भी जांच चल रही है। इनके खिलाफ मिर्जापुर में गबन व खागा में तैनाती के दौरान इनकी वजह से कई केंद्र प्रभारियों के खिलाफ उस समय तैनात रहे जिलाधिकारी ने बड़ी कार्यवाही की थी, तगड़ी सिफ़ारिश के चलते उसमें ये बच गये थे। धान खरीद के समय असोधर क्रय केंद्र में इनके खिलाफ मुख्यमंत्री से लेकर प्रमुख सचिव खाद्य एवं रसद व आयुक्त खाद्य एवं रसद से क्षेत्र के तमाम किसानों ने शिकायत की थी। गेहूं खरीद केंद्र में तो कुछ किसानों का गेहूं खराब बताकर नहीं तौलाया, उन किसानों को मजबूरी में केंद्र से गेहूं उठाकर प्राइवेट कांटों में बेचना पड़ा था जबकि उससे भी ज्यादा खराब गेहूं चार किलो प्रति कुंतल लेकर तौल कराया है। बड़ी बात यह है कि यह जनपद खाद्य एवं रशद मन्त्री रणवेंद्र प्रताप सिंह का गृह जनपद है, बावजूद इसके किसानो के साथ छलावा अपने आप में सोचनीय विषय है। जिला खाद्य विपणन अधिकारी ने बातचीत में माना कि तबादला किया गया है किंतु चार्ज क्यों नहीं छोड़ा इसका उनके पास कोई जवाब नहीं है।