ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
तालाब की खुदाई से ग्रामीण हुए परेशान बरसात का पानी घुसा घर के अंदर
June 27, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश


 
अमौली(फतेहपुर)।

मनरेगा के तहत 84 बीघा तालाब की खुदाई होने पर जिसकी मिट्टी तालाब के आसपास जमा कर देने पर ग्रामीण लोग बारिश का पानी नहीं निकलने पर काफी परेशान  देखने को मिले हैं क्योंकि भीषण बरसात होने पर गांव का पानी मजदूरों के घर पर घुस गया और मजदूर विचारे काफी परेशान देखने को मिले हैं बरसात का पानी घर के भीतर घुसने पर घर पर रखा सामान भी खाने का सामान गल्ला आदि पानी में उतराते हुए मिले इससे मजदूर लोग अपने अपने घर के अंदर घुसा पानी बहुत ही मायूस हो गए क्योंकि इस लॉकडाउन में बड़े ही मशक्कत से मजदूर लोग किसी तरह लोगों के खेत में मजदूरी कर कर के गल्ला काटा था और अपने जीवन यापन के लिए गेहूं को घर के अंदर सुरक्षित रखा हुआ था लेकिन 84 बीघे तालाब की खुदाई करने से एवं खुदाई की मिट्टी तालाब के आसपास जमा कर देने से गांव के अंदर बारिश का भरा हुआ पानी कही भी नहीं निकल पाया इस कारण बारिश का पानी लोगों के घर के अंदर घुस जाने से गरीब किसान मजदूर बहुत ही परेशान पानी को निकालने में दिखे एक मजदूर ने बताया कि इस लॉकडाउन में हम सभी मजदूर लोग किसी तरह लोगों के खेत में जा जाकर गेहूं की कटाई किया करते थे जिससे जो कटाई में गेहूं मिला वह सुरक्षित अपने घर में रख दिया लेकिन जब से तालाब की खुदाई हुई है और तालाब की मिट्टी तालाब के आसपास जमा की गई है जो घरों का पानी तालाब में नहीं जा पा रहा है इस कारण बारिश का पानी भी तालाब में नहीं जा पाया जिससे बारिश का पानी घर के अंदर घुस जाने से हम लोग बहुत ही परेशान हो गए और बच्चों का पेट पालने  में मुश्किल पड़ गया अब इसे प्रकृति की मार कहें या फिर जो तालाब खुदवाया है उसकी गलती कहें क्योंकि गांव के किनारे बने तालाब में गांव का पानी उसी तालाब में बह कर जाता था जिससे तालाब की खुदाई हो जाने से गांव का पानी उस तालाब में नहीं जा पा रहा है और कोई दूसरा पानी निकलने के लिए रास्ता भी नहीं है इस कारण गरीब मजदूर काफी भयभीत नजर आ रहे हैं ।