ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
सुप्रीम कोर्ट ने विकास दुबे एनकाउंटर की जांच के लिए बने आयोग के पुनर्गठन की मांग ठुकराई
July 28, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

 

न्यूज़ आफ फतेहपुर

दिल्ली।सुप्रीम कोर्ट ने विकास दुबे एनकाउंटर की जांच के लिए बने आयोग के पुनर्गठन की मांग ठुकराई। याचिका खारिज। याचिकाकर्त घनश्याम उपाध्याय और अनूप अवस्थी ने आयोग के सदस्यों जस्टिस शशिकांत अग्रवाल और पूर्व डीजीपी के एल गुप्ता को हटाने की मांग की थी
विकास दुबे मुठभेड़ जांच आयोग के पुनर्गठन की मांग पर SC में सुनवाई। जजों ने जस्टिस शशिकांत अग्रवाल को आयोग से हटाने पर असहमति जताई।
पूर्व DGP KL गुप्ता के बयान पर यूपी सरकार से सफाई मांगी। याचिकाकर्ता का कहना है- गुप्ता ने एनकाउंटर के बाद पुलिस को क्लीन चिट देने वाला बयान दिया था।
यूपी सरकार के लिए पेश सॉलिसीटर जनरल तुषार मेहता ने के एल गलत का बयान पढ़ कर सुनाया।

CJI ने याचिकाकर्ता से कहा- हम इस तरह से आयोग के सदस्य नहीं बदल सकते। गुप्ता ने संतुलित बयान दिया था। यह भी कहा था कि अगर पुलिस अधिकारी दोषी पाए जाएंगे तो उन्हें ज़रूर सज़ा मिलनी चाहिए।
CJI ने कहा- आयोग में SC के पूर्व जज BS चौहान हैं, एक पूर्व HC जज हैं। पूर्व DGP की विश्वसनीयता पर भी संदेह की कोई वजह नहीं। याचिकाकर्ता को इस तरह उनके ऊपर पूर्वाग्रह का आरोप नहीं लगाना चाहिए::अदनान