ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
स्टार्टअप ने कोरोना की जांच के लिए बनाई स्वदेशी आरटी-पीसीआर जांच किट
September 27, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

भारतीय विज्ञान संस्थान (आइआइएससी) के स्टार्टअप इक्विन बायोटेक ने कोरोना संक्रमण की जांच के लिए स्वदेशी आरटी-पीसीआर जांच किट विकसित किया है। इसे ग्लोबल डायग्नोस्टिक किट नाम दिया गया है। स्टार्टअप ने दावा किया है कि इसके जांच नतीजे सटीक है और इससे जांच की लागत भी कम आती है।

आइआइएससी के मुताबिक भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आइसीएमआर) ने इस आरटी-पीसीआर किट को कोरोना की जांच करने वाली प्रयोगशालाओं में इस्तेमाल करने की मंजूरी दे दी है। इससे जांच के नतीजे डेढ़ घंटे में आ जाएंगे। इक्विन बायोटक के संस्थापक उत्पल टटू ने कहा कि कोरोना महामारी शुरू होने के बहुत पहले से ही उनका स्टार्टअप कोरोना वायरस के लिए जांच किट पर काम कर रहा है।

बता दें कि जिस गति से देश में कोरोना के मामले बढ़ रहें उसी गति से जांच भी तेज हो गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री का कहना है कि भारत प्रत्येक दिन 5 लाख से अधिक पीपीई किट का निर्माण कर रहा है। हर्षवर्धन ने कहा कि भारत में 7 करोड़ के पास तक नमूनों की जांच हो चुकी है और साथ ही रिकवरी रेट में सुधार आ रहा है। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (Indian Council of Medical Research- ICMR) के मुताबिक 26 सितंबर तक सात करोड़ 12 लाख 57 लाख 836 लोगों की कोरोना टेस्टिंग की जा चुकी है।