ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
श्रमिकों की मजदूरी महंगाई को देखते हुए बहुत कम
October 13, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

श्रमिकों की मजदूरी महंगाई को देखते हुए बहुत कम

(न्यूज़)जीनियस प्रेस एसोसिएशन उत्तर प्रदेश के चेयरमैन मनोज दीक्षित प्रदेश अध्यक्ष गिरीश खरे प्रदेश प्रभारी डा० के०एम०त्रिपाठी सम्पादक पी०एन०शर्मा वरिष्ठ उपाध्यक्ष अतुल गुप्ता उपाध्यक्ष अनुपम कुमार शुक्ला प्रदेश महामंत्री कुलदीप सक्सेना प्रदेश सचिव सुरेश चौरसिया एवं कीर्ति कुमार शुक्ला, सहारा टूडे के सम्पादक मो० तारिक, व सदस्यों जी ०बी०सिंह, प्रदीप नागर तथा जय प्रकाश तिवारी ने श्रमायुक्त उत्तर प्रदेश कानपुर द्वारा 74 नियोजनों में कार्यरत श्रमिकों की दिनांक 01/10/2020 से दिनांक 31/03/2021 तक निर्धारित की गई न्यूनतम दैनिक मजदूरी को वर्तमान मंहगाई को देखते हुए अपर्याप्त एवं कम बताया है।
  पदाधिकारियों ने कहा कि सरकार ने अकुशल श्रमिकों की न्यूनतम दैनिक मजदूरी रुपए 336.87 अर्थात 337रुपये निर्धारित की है जबकि मंहगाई को देखते हुए अकुशल श्रमिकों की न्यूनतम दैनिक मजदूरी दिनांक 01/10/2020 से रुपए 500 निर्धारित होनी चाहिए। इसी प्रकार अर्द्धकुशल एवं कुशल श्रमिकों की न्यूनतम दैनिक मजदूरी क्रमशः रुपए 700/- एवं 900/- निर्धारित होनी चाहिए।
पदाधिकारियों ने सरकार से तदानुसार संशोधित न्यूनतम दैनिक मजदूरी निर्धारित करने का अनुरोध किया है।