ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
शिवराज सिंह चौहान बोले, होशंगाबाद में भारी बारिश की संभावना, SDRF और NDRF की टीमें सक्रिय
August 29, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

भोपाल,  मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि नर्मदा और उसकी सहायक नदियां इस समय उफान पर हैं, बांधों से लगातार पानी छोड़ा जा रहा है इसलिए भी जलस्तर बढ़ा है। होशंगाबाद में नर्मदा नदी 10 बजे तक ही उच्चतम स्तर को पार कर चुकी है। अभी 48 घंटे भारी बारिश की संभावना है। हमारी SDRF की टीमें सक्रिय हैं, जहां जरूरत है वहां NDRF की टीमें भेज रहे हैं। सेना को हमने सतर्क किया है। किसी भी प्रकार की सहायता या आपात स्थिति में सूचना देने के लिए 100 और 1079 नंबर पर संपर्क करें। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राज्य में बाढ़ की स्थिति पर अधिकारियों के साथ उच्च स्तरीय बैठक की। 

एमपी और छत्‍तीसगढ़ में पिछले 72 घंटे से लगातार बारिश जारी

सावन के बाद सक्रिय हुए मानसूनी तंत्र के कारण मध्‍य प्रदेश और छत्‍तीसगढ़ के कई हिस्‍सों में पिछले 72 घंटे से लगातार बारिश जारी है। इसके चलते मध्‍य प्रदेश और छत्‍तीसगढ़ के नदी नाले उफान पर हैं। छत्‍तीसगढ़ के प्रमुख नगरों की सड़कें दरिया बन गई और घरों में पानी भरने से पोखरा (तालाब) जैसा नजारा बन गया। काफी गांवों का जिला मुख्यालय से संपर्क कट गया है। मुख्‍य मार्ग और मिट्टी के मार्ग क्षतिग्रस्त हो चुके हैं। शुक्रवार को पूरे छत्‍तीसगढ़ में 1052.9 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है। मौसम विभाग ने मध्‍य प्रदेश और छत्‍तीसगढ़ में अगले 48 घंटे में भी भारी बारिश की संभावना जताई है।

मौसम विभाग ने अनुसार छत्तीसगढ़ के उत्तरी हिस्से में एक निम्न दाब का क्षेत्र बना हुआ है, जो मध्यप्रदेश के ऊपर तक स्थित है। इसके साथ ही हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा 7.6 किलोमीटर ऊंचाई पर स्थित है। मानसून द्रोणिका गंगानगर, नारनौल, शिवपुरी एवं निम्न दाब का क्षेत्र मिदनापुर और उसके बाद दक्षिण पूर्व दिशा में आगे बढ़ते हुए उत्तर बंगाल की खाड़ी तक फैला है। 

 मौसम वैज्ञानिक एचपी चंद्रा के अनुसार, मध्‍य प्रदेश और छत्‍तीसगढ़ में 29 अगस्त को अनेक स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने अथवा गरज चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। बिलासपुर तथा सरगुजा संभागों के पश्चिमी जिले और दुर्ग संभाग के उत्तर में स्थित जिलों में भारी बारिश की संभावना है।