ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
सीएचसी जांच करने पहुंचे अपर निदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य
October 27, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

सीएचसी जांच करने पहुंचे अपर निदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य
----- 1 दिन पहले सीएचसी के सफाई कर्मचारी ने आवास में कर ली थी आत्महत्या
----- चिकित्सा अधीक्षक तथा वरिष्ठ चिकित्सक 2 के खिलाफ आत्महत्या के लिए विवश करने तथा एससी एसटी का मुकदमा हुआ था दर्ज
बिंदकी फतेहपुर
सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पहुंचे अपर निदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य ने सफाई कर्मचारी द्वारा 1 दिन पहले अपने आवास पर आत्महत्या किए जाने के मामले में चिकित्सकों तथा कर्मचारियों से अलग-अलग बातचीत की बताते चलें कि इस मामले में मृतक के परिजनों ने चिकित्सा अधीक्षक तथा वरिष्ठ चिकित्सक दो के खिलाफ आत्महत्या के लिए विवश होने तथा एससी एसटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज हुआ था
        मंगलवार को करीब मध्यान में अपर निदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य डॉ मोहन श्रीवास्तव सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे तो हड़कंप मच गया उन्होंने 1 दिन पहले सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के सफाई कर्मचारी रहे नरेश कुमार द्वारा अपने आवास पर आत्महत्या की जाने के मामले में सभी चिकित्सकों तथा कर्मचारियों से एक-एक कर अलग-अलग बात की और घटना के कारण की जानकारी ली बताते चलें कि 1 दिन पहले सुबह करीब 10:00 बजे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की सफाई कर्मचारी नरेश कुमार ने अपने आवास के अंदर छत के पंखे में लटक कर फांसी लगाकर जान दे दी थी लोगों ने देखा तो हड़कंप मच गया था मौके पर पहुंचे परिजनों तथा सफाई कर्मचारी यूनियन के लोगों ने हंगामा काटा था और आरोप लगाया था कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अधीक्षक डॉ सुनील चौरसिया तथा वरिष्ठ चिकित्सक डॉ अभय पटेल द्वारा प्रताड़ित करने के कारण नरेश कुमार आत्महत्या के लिए विवश हुए थे करीब 10 घंटे तक परिजनों ने शव को उठा ले नहीं दिया था जब मौके पर पहुंचे उप जिलाधिकारी आशीष कुमार पुलिस क्षेत्राधिकारी योगेंद्र सिंह होली मुख्य चिकित्सा अधिकारी एसपी अग्रवाल ने लोगों को समझाया और परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने दोनों चिकित्सकों के खिलाफ आत्म हत्या के लिए विवश करने तथा एससी एसटी एक्ट का मुकदमा दर्ज हुआ इसके बाद परिजनों ने शव को पुलिस को सौंपा पुलिस ने शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया इसी मामले को लेकर आए अपर निदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग ने सभी लोगों से पूछताछ की। घंटों पूछताछ करने के बाद वापस लौट गए