ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
सरकार की सीएम योगी आदित्यनाथ ने तय की वरीयता, दिया निर्देश-अभी भी पूर्ण अनुशासन आवश्यक
June 30, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

लखनऊ। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार पर अंकुश लगाने की खातिर लॉकडाउन-5 में भी सीएम योगी आदित्यनाथ हर मोर्चे पर बेहद सजग हैं। अनलॉक-2 को लेकर उन्होंने मंगलवार को टीम-11 के साथ बैठक में सरकार की वरीयता तय की। झांसी रवाना होने से पहले सीएम योगी आदित्यनाथ ने कोरोना वायरस संक्रमण के संचार पर अंकुश लगाने के साथ संचारी रोग नियंत्रण को लेकर अधिकारियों को हर मोर्चा पर सजग रहने का निर्देश दिया।

सीएम योगी आदित्यनाथ प्रदेश की जनता के प्रति अपने दायित्व के प्रति कितने सजग है, इसका अहसास आज हो गया। उनको दिन में 12 बजे झांसी में बुंदेलखंड की पेयजल परियोजना के शिलान्यास के लिए जाना था। इसके पहले ही उन्होंने अपनी टीम के साथ अनलॉक-2 टू तथा संचारी रोग पर नियंत्रण के लिए कोर ग्रुप की बैठक की। इसमें उन्होंने अनलॉक-2 के लिए सरकार की तैयारी को परखने के साथ अधिकारियों को दिशा निर्देश दिया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि संचारी रोगों व कोरोना को नियंत्रित करने में स्वच्छता की बड़ी भूमिका है। इसके दृष्टिगत उन्होंने ग्रामीण तथा शहरी इलाकों में मिशन मोड पर स्वच्छता अभियान संचालित किए जाने के निर्देश दिए। लोग मास्क अथवा फेस कवर का अनिवार्य रूप से इस्तेमाल करें तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें।

उन्होंने संचारी रोगों से बचाव के उपाय के साथ गौ संरक्षण केंद्र के इंतजाम की भी समीक्षा की। उन्होंने अनलॉक टू की गतिविधियों को केंद्र सरकार के दिशा निर्देशों के अनुरूप संचालित कराने के निर्देश दिए हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि केंद्र सरकार की गाइडलाइन के सभी प्रावधानों का अध्ययन करते हुए पूरी तैयारी के साथ इसे लागू किया जाए।।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोरोना का संकट अभी बना हुआ है। कोरोना संक्रमण के बचाव के लिए सभी दिशा निर्देशों का पालन करना अपरिहार्य है। संक्रमण की चेन को तोडऩे के लिए प्रत्येक स्तर पर पूरी सावधानी रखनी होगी।

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि लोग अनावश्यक आवागमन से बचें। इस दौरान उन्होंने लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से संचालित प्रचार प्रसार के कार्य को जारी रखने के निर्देश दिए। यह भी निर्देश दिया कि टेस्टिंग क्षमता में वृद्धि के लिए प्रयास लगातार जारी रखे जाएं। कोविड अस्पतालों में बेड की संख्या को बढ़ाया जाए। कोविड हेल्प डेस्क में इंफ्रारेड थर्मामीटर एवं पल्स ऑक्सीमीटर की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। हेल्प डेस्क पर कार्यरत कॢमयों को मास्क, ग्लव्स तथा सेनिटाइजर दिया जाए। कोविड अस्पतालों में भर्ती मरीजों के परिजनों से संवाद बनाकर उन्हेंं रोगी के स्वास्थ्य की स्थिति से नियमित तौर पर अवगत कराया जाए। सभी अस्पतालों में स्वच्छता व सभी आवश्यक सुविधाओं की उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी। एक जुलाई संचारी रोग नियंत्रण अभियान प्रारम्भ हो रहा है।

सीएम योगी आदित्यनाथ गौ संरक्षण के प्रति भी सजग रहते है। उन्होंने गौ आश्रय स्थलों पर गौवंश के लिए भूसे व हरे चारे की व्यवस्था सुनिश्चित रखने के निर्देश दिए। टिड्डी दल से कृषि नुकसान को बचाने हेतु रसायनों के छिड़काव के व्यापक प्रबन्ध किए जा रहे है।