ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
सकूलपुर में सत्ता के अलंबरदारों व पुलिस का कहर, ढाई सौ कलंदरो का पलायन
September 16, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

 

पुलिस ने पीड़ित पक्ष पर ही गम्भीर धाराओं में दर्ज किया मुक़दमा, सपा विधान सभा में उठायेगी मामला

फतेहपुर। जिले में सत्ता के अलंबरदारों व पुलिस का कहर देखने को मिला है, जहा पुलिस की एक तरफा कार्यवाहीं के बाद गाव के ढाई सौ के करीब धर्म विशेष के कलंदर जाति के लोगों का पलायन होने का सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। सकूलपुर गांव में एहतियातन पुलिस फोर्स तैनात कर दिया गया है, बावजूद इसके हालात नियंत्रण में नहीं कहे जा सकते! समाजवादी पार्टी ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए विधानसभा में उठाने की तैयारी शुरू कर दी है।

उपलब्ध घटनाक्रम के मुताबिक पिछ्ले सप्ताह जनपद के हुसैनगंज थाने के गांव सकूलपुर मजरे फरसी में दोपहर के समय धर्म विशेष से ताल्लुक रखने वाली कलंदर जाति की एक लगभग 25 वर्षीय महिला शौच के लिए खेतों की ओर गई थी, वहां पहले से मौजूद कुछ दबंग युवक बुरी नियत से उसे खेत के अन्दर खींच ले गए। किसी तरह इनके चंगुल से छूटने के बाद महिला अपने घर पहुंची और परिजनों को आप बीती सुनाई, तभी दबंग भी घर के बाहर आ गए और धमकी देने लगे, इसी बीच आपस में कहां सुनी हो गई और दबंगो ने पीड़िता के परिजनों को पीट दिया, जिसके बाद पीड़िता के साथ कुछ लोग हुसैनगंज थाने पहुंचे और मुक़दमा लिखने की दरख्वास्त की किन्तु थाना प्रभारी निशीकान्त राय ने इन्हे थाने से भगा दिया।
 उसके बाद पीड़ित पुलिस कप्तान से मिले और उन्हें आप बीती सुनाई। कप्तान ने मामले को गंभीरता से लेते हुए हुसैनगंज पुलिस को तुरन्त मुक़दमा दर्ज करके अभियुक्तों को गिरफ्तार करने के निर्देश दिए। थाना पुलिस ने मुखिया के निर्देश पर न चाहते हुए भी मुक़दमा दर्ज किया और कुछ अभियुक्तों को गिरफ्तार भी कर लिया।
उधर सत्ता के अलंबरदारों को जब इसकी जानकारी लगी तो पूरे लाव- लश्कर के साथ थाने पहुंचे और पुलिकर्मियों को जद्द-बद्द बकते हुए अभियुक्तों को थाने के लाकप से लेे गए! कहते हैं कि अगली सुबह गांव में इसी बात को लेकर फिर से विवाद हो गया और दोनों पक्षों के बीच जमकर लाठी डंडे चले, जिसमें दर्जन भर के करीब लोग घायल भी हुए। यहां पर एक बार फिर सत्ता के अलंबरदारों का प्रभाव थाना पुलिस पर सिर चढ़कर बोला और सिर्फ़ कलंदरो पर धारा 147, 323, 504, 506, 17(सी) के अन्तर्गत मुक़दमा दर्ज़ हो गया।
 उसके बाद पुलिस व दबंगो ने गिरफ़्तारी के बहाने पक्ष विशेष के लोगों के घरों में घुस- घुसकर पीटा, जिसके बाद लगभग ढाई सौ लोगों (कलंदर) का गाव से पलायन हो गया है। बकौल पुलिस कलंदर बलवा कर रहे थे, जिस कारण यह कार्यवाहीं की गई है। 
 एक अन्य जानकारी के अनुसार गांव के पूर्व प्रधान एवम् सपा नेता असलम खान को भी इस कार्यवाही की जद में लाने का ताना बाना बुना जा रहा है। उधर सामाजवादी पार्टी के लोगों ने समूचे मामले से राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को अवगत करा दिया है।
 खबर है कि जल्द ही सपा का एक प्रतिनिधि मंडल गांव पहुंचेगा और वास्तविकता एवं मौजूदा हालातो का जायजा लेने के बाद हाईकमान को अवगत कराएगा। साथ ही इस मामले को विधान सभा में भी उठाने की तैयारी शुरू कर दी गई है। गांव में एहतियातन पुलिस फोर्स तैनात कर दिया गया है और अपर पुलिस अधीक्षक व उप पुलिस अधीक्षक ने गाव का दौरा भी किया। बावजूद इसके हालात नियंत्रण में नहीं कहे जा सकते, किसी भी अप्रिय घटना की संभावना से इन्कार नहीं किया जा सकता है। साथ ही अधिकांश कलंदर अपने अपने घरों में ताले बंद करके गांव से चले गए हैं।