ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
सड़क किनारे लघुशंका कर रहे वृद्ध को अनियंत्रित ट्रक ने कुचला  मौत  
September 12, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश


पुलिस ने चालक को ट्रक समेत किया गिरफ्तार

 फतेहपुर। ललौली थाना क्षेत्र के बांदा टांडा मार्ग पर लादिगंवा  गांव के पास  सड़क किनारे लघु शंका कर रहे एक  वृद्ध को अनियंत्रित ट्रक ने कुचल दिया  दुर्घटना को देखकर ईट भट्टे में मौजूद लोग दौड़कर वहां पहुंचे और किसी प्रकार घायल को उपचार के लिए बहुवा सरकारी अस्पताल ले गए जहां पर त्वरित उपचार के बाद उसकी मौत हो गई पुलिस ने चालक को ट्रक सहित गिरफ्तार कर  लाश को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है जानकारी के अनुसार शहर के कृष्ण बिहारी नगर मोहल्ला निवासी 58  वर्षी सुदेश प्रताप सिंह किसी काम से मोटरसाइकिल द्वारा कल बांदा गए हुए थे शाम करीब 7:00 बजे जब वह वापस लौट रहे थे तभी बांदा टांडा मार्ग पर लादिगंवा गांव के पास पहुंचकर गाड़ी को साइड में खड़ी करके लघुशंका करने लगा तभी महुआ की ओर से तेज रफ्तार में आ रहे ट्रक ने कुचल दिया दुर्घटना को देखकर ईट भट्टे में मौजूद मजदूर व मुनीम दौड़कर मौके पर पहुंचे और तड़प रहे सुदेश को उपचार के लिए नजदीक के सरकारी अस्पताल ले गए जहां पर थोड़ी देर चिकित्सकों के उपचार के बाद उसने दम तोड़ दिया उधर पुलिस घटनास्थल पहुंचकर ट्रक चालक को गिरफ्तार कर लिया और लाश को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

 कच्चे मकान की छत गिरने से वृद्ध महिला की मौत

मां व दो बेटियां गंभीर रूप से घायल
 
फतेहपुर ।चांदपुर थाना क्षेत्र के बेहटा खुर्द गांव में कच्चे मकान की छत गिरने से एक वृद्ध महिला की मौत हो गई जबकि 2 बच्चे समेत 3 लोग घायल हो गए जिन्हें उपचार के दौरान घर वापस पहुंचाया गया है जानकारी के अनुसार बेहटा खुर्द गांव निवासी मोहम्मद नसीम की 65 वर्षीय पत्नी कमरुन्निसा अपने दो पोती महबीबा व रहमीन तथा बेटी आमना खातून के साथ घर पर थी तभी अचानक मकान की  कोठरी की छत गिरने से सभी उसके नीचे दब गए जब जानकारी ग्रामीणों को हुई तो वह लोग मौके पर पहुंचे और किसी प्रकार मलबे में दबे सभी लोगों को बाहर निकाला उधर पुलिस भी मौके पहुंचकर ग्रामीणों की मदद में लग गई लेकिन जब तक मलबे में दबे चारों को बाहर निकाल पाते कमरुन निशा की मौत हो चुकी थी जबकि  दोनों बच्चियां वह महिला को घायल हालत में बाहर निकाला गया तत्काल उन्हें उपचार के लिए अमोली सरकारी अस्पताल ले गए जहां से चिकित्सकों ने कानपुर के लिए रेफर कर दिया लेकिन परिवार वाले तीनों को कानपुर के ही एक प्राइवेट नर्सिंग होम में भर्ती कराया जहां पर उपचार के दौरान उन्हें कल वापस घर लाया गया है।