ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
सभी विकास खंडों में शिविर आयोजित कर निराश्रित महिला वृद्धा दिव्यांग पेंशन के साथ दिव्यांग जनों को वितरित किए जाएंगे सहायक उपकरण
November 11, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

सभी विकास खंडों में शिविर आयोजित कर निराश्रित महिला वृद्धा दिव्यांग पेंशन के साथ दिव्यांग जनों को वितरित किए जाएंगे सहायक उपकरण

फतेहपुर।जिला अधिकारी संजीव सिंह ने बताया कि वर्तमान समय में शासन की मंशा अनुरूप उत्तर प्रदेश शासन द्वारा संचालित पति की मृत्यु उपरांत निराश्रित महिला पेंशन, वृद्धा पेंशन, दिव्यांग पेंशन, कन्या सुमंगला योजना एवं दिव्यांग जनों को सहायक उपकरण चिन्हांकन का शिविर का आयोजन जनपद के समस्त विकास खंडो किया जा रहा है जिसमे-
विकास खंड-ऐराया में दिनाँक 17.11.2020, अमौली में 18.11.2020, असोथर में 19.11.2020, बहुआ में 20.11.2020, भिटौरा में 21.11.2020, देवमयी में 22.11.2020, धाता में 23.11.2020, हसवा में 24.11.2020, हथगाम में 25.11.2020, मलवां में 26.11.2020, खजुहा में 27.11.2020, विजयीपुर में 28.11.2020, तेलियानी में 29.11.2020 को संबंधित खंड विकास अधिकारी अपने विकास खंड में एवं तहसील स्तर पर तहसील सदर में दिनाँक 03.12.2020, तहसील बिन्दकी में 07.12.2020 को एवं तहसील खागा में 10.12.2020 को संबंधित तहसीलदार/खंड विकास अधिकारी उक्त निर्धारित तिथियों में शिविर आयोजित कराना सुनिश्चित करेंगे ।
योजनाओ की पात्रता----
01- पति की मृत्युपरांत निराश्रित महिला पेंशन योजना के तहत आवेदिका उ0प्र0 की स्थायी निवासी हो, पति की मृत्यु हो गई हो, आयु 18 वर्ष से कम न हों, आवेदिका एवं उसके परिवार की आय सभी श्रोतो से रु0 दो लाख हो, राज्य अथवा केन्द्र सरकार की किसी अन्य योजना से पेंशन न प्राप्त हो रही हो ।
02- वृद्धा पेंशन योजना के तहत आवेदक उ0प्र0 का स्थायी निवासी हो, आयु 60 वर्ष से कम न हों, वार्षिक आय ग्रामीण क्षेत्र में रु0 46080 से अधिक न हो एवं शहरी क्षेत्र में रु0 56460 से अधिक न हो,  राज्य अथवा केन्द्र सरकार की किसी अन्य योजना से पेंशन न प्राप्त हो रही हो ।
03- दिव्यांग पेंशन योजनान्तर्गत दिव्यांग पेंशन हेतु कम से कम 40 प्रतिशत का दिव्यांगता प्रमाण पत्र होना चाहिए, आवेदक की आयु 18 वर्ष से कम न हो, वार्षिक आय ग्रामीण क्षेत्र में रु0 46080 से अधिक न हो एवं शहरी क्षेत्र में रु0 56460 से अधिक न हो, ग्रामसभा की खुली बैठक का प्रस्ताव ।
04- दिव्यांग कृत्रिम अंग/सहायक उपकरण योजना के तहत कृत्रिम अंग/सहायक उपकरण हेतु कम से कम 40 प्रतिशत का दिव्यांगता प्रमाण पत्र होना चाहिये, आवेदक की वार्षिक आय ग्रामीण क्षेत्र में रु0 46080 से अधिक न हो एवं शहरी क्षेत्र में रु0 56460 से अधिक न हो, उ0प्र0 का मूल निवासी हो, लाभार्थी को 03 वर्ष में एक ही बार उपकरण प्रदान किया जाएगा ।
उन्होंने उक्त क्रम में समस्त उप जिलाधिकारी/खंड विकास अधिकारियो को निर्देशित किया है कि आप अपने स्तर से उक्त योजनाओ का प्रचार-प्रसार तहसील स्तर /विकास खंड स्तर /ग्राम पंचायत स्तर पर कराया जाना सुनिश्चित करें ताकि जिन आवेदको द्वारा ऑनलाइन आवेदन कराया गया है कि हार्डकॉपी उक्त शिविरों में संबंधित काउंटर पर जमा कराकर उक्त शिविर के माध्यम से निर्धारित तिथियों में उक्त योजनाओ के अधिक पात्र लाभार्थियों का चिन्हांकन कर उनको योजनाओ के लाभ से लाभान्वित किया जा सके । शिविरों का आयोजनों में कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन कराया जाय। यह शीर्ष प्राथमिकता का है इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता के लिए स्वयं जिम्मेदार होंगे ।