ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
साथ जीने मरने की कसमें खाकर युवती ने बसा लिया दूसरे संग घर, युवक ने तनाव में दे दी जान
September 19, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

 

वाराणसी । कपसेठी थाना क्षेत्र के सरावां गांव निवासी अजय कुमार जायसवाल उर्फ गोलू ने अपने घर में लाइसेंसी बंदूक से शनिवार की भोर में गले में गोली मारकर आत्महत्या कर ली। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शव को अन्त्य परीक्षण के लिए भेज दिया। मृतक के पास से एक डायरी मिली है जिसमें उसने प्रेम में असफल होने की कहानी लिखी है। वहीं दोपहर में कपसेठी थाना के सरावां गांव में गोली मारकर आत्महत्या करने के मामले में ग्रामीण पुलिस अधीक्षक मार्तंड प्रकाश सिंह मौके पर पहुंचे और घटना स्थल का निरीक्षण किया।
अजय कुमार जायसवाल दिल्ली में रहकर नौकरी करता था और लॉकडाउन के कारण जुलाई में अपने घर आया था। अजय कुमार किसी युवती से चार वर्ष से प्रेम करता था। जिसकी शादी होने के बाद वह डिप्रेशन में रहने लगा। शुक्रवार की रात खाना खाने के बाद काफी समय तक परिवार के लोग एक साथ बैठकर बातचीत किये। इसके बाद वह घर की में सोने के लिए चला गया। शनिवार की भोर में लगभग दो बजे उसने अपने लाइसेंसी बंदूक से गले में गोली मार लिया। इससे उसकी मौत घर पर ही हो गई। घटना की जानकारी सुबह उस समय हुई जब परिवार का एक बच्चा चाय लेकर बैठका में गया। वहां की स्थिति देखकर वह दंग रह गया और भागकर मकान में जाकर परिवार वालों को इसकी जानकारी दी। इसक बाद परिवार में हड़कंप मच गया। घटना की जानकारी परिवार के लोग स्थानीय पुलिस को दिए तो मौके पर पहुंचे थानाध्यक्ष राजू दिवाकर ने घटनास्थल का निरीक्षण कर घटना की जानकारी फॉरेंसिक टीम को दी। मौके पर पहुंची टीम ने घटना स्थल का निरीक्षण किया जहां लाइसेंसी बंदूक और एक खोखा बरामद किया गया। चारपाई पर ही डायरी में 12 पृष्ठ का एक प्रेम पत्र लिखा गया था। पत्र में यह लिखा गया था कि प्रेम के बाद युवती ने शादी कर ली जबकि दोनों शादी करने के लिए तैयार थे। युवती द्वारा विश्वासघात करने पर युवक मानसिक रूप से तनाव में था जिसके कारण उसने आत्‍महत्‍या की। युवक तीन भाइयों में दूसरे नंबर का है। पिता श्रीकांत जायसवाल अपनी पत्नी और एक पुत्र के साथ पांडेयपुर वाराणसी स्थित मकान में रहते हैं। वह भी घटना की जानकारी मिलते ही अपने परिवार के साथ गांव पर आ गये। घटना के बाद मां स्नेहलता जायसवाल व परिवार का.बुरा हाल हो गया।