ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
रिसर्च में किया गया दावा- गंदगी में रहने वाले लोगों की कोरोना से हुई कम मौत
November 6, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

रिसर्च में किया गया दावा- गंदगी में रहने वाले लोगों की कोरोना से हुई कम मौत

(न्यूज़)।देश में कोरोना संक्रमण के मामले भले ही कम हो गए हों लेकिन खतरा अभी टला नहीं है. कोरोना वायरस पर शोध करने वाले वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि जिन राज्यों में साफ-सफाई का स्तर खराब है और वहां पर पानी की क्वालिटी भी अच्छी नहीं है वहां पर कोरोना का संक्रमण कम असरदार रहा है. ऐसे राज्यों में कोरोना से होने वाली मौत का आंकड़ा विकसित राज्यों से काफी कम रहा है.
सेंटर फॉर साइंटिफिक एंड इंडस्ट्रियल रिसर्च के वैज्ञानिकों ने चौंकाने वाले अपने शोध में दावा किया है कि लो मिडिल इनकम वाले देशों में पैरासाइट और बैक्टीरिया से फैलने वाली बीमारी हमेशा से रही है. ऐसे में यहां के लोगों में इन बैक्टीरिया से लड़ने के लिए पहले से इम्यून सिस्टम तैयार हो जाता है. शरीर में होने वाले इस बदलाव को हायपोथिसिस कहते हैं. वैज्ञानिकों ने कहा है कि जो देश पहले से इस तरह के संक्रमण से जूझ रहे हैं वहां पर कोरोना से मौत के मामले पहले से काफी कम हैं।