ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने NCC कैडेट्स के ऑनलाइन प्रशिक्षण के APP किया लॉन्च
August 27, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

नई दिल्ली,रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने गुरुवार को देश में नेशनल कैडेट कोर (NCC) कैडेट्स के ऑनलाइन प्रशिक्षण में सहायता के लिए एक मोबाइल एप्लिकेशन लॉन्च किया। रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि कोरोना वायरस (COVID-19) के कारण लगाए गए प्रतिबंधों के मद्देनजर एनसीसी कैडेट्स के प्रशिक्षण पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है। चूंकि निकट भविष्य में स्कूलों और कॉलेजों के खुलने की संभावना नहीं है, इसलिए एनसीसी कैडेट्स को डिजिटल माध्यम से प्रशिक्षण दिया जाना चाहिए। 

बयान में कहा गया है कि 'डीजीएनसीसी' नामक मोबाइल ऐप का उद्देश्य एनसीसी कैडेट्स को पाठ्यक्रम, प्रशिक्षण वीडियो और अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न सहित सभी प्रशिक्षण सामग्री प्रदान करना है। सवाल पूछने के विकल्प को शामिल करके ऐप को इंटरैक्टिव बनाया गया है। इस विकल्प का उपयोग करके कैडेट्स प्रशिक्षण पाठ्यक्रम से संबंधित प्रश्न पूछ  सकते हैं और इसका उत्तर योग्य प्रशिक्षकों के एक पैनल द्वारा दिया जाएगा।

डिजिटल लर्निंग में एनसीसी कैडेट्स के लिए उपयोगी होगा ऐप

राजनाथ सिंह के साथ, रक्षा सचिव अजय कुमार, एनसीसी  के महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल राजीव चोपड़ा और मंत्रालय के अन्य अधिकारी इस अवसर पर उपस्थित रहे। ऐप लॉन्च के बाद, राजनाथ सिंह ने ट्विटर पर कहा कि आज एनसीसी कैडेट्स के लिए मोबाइल ट्रेनिंग ऐप लॉन्च किया। यह ऐप एनसीसी कैडेटों के देशव्यापी ऑनलाइन प्रशिक्षण आयोजित करने में सहायता करेगा। यह डिजिटल लर्निंग में एनसीसी कैडेट्स के लिए उपयोगी होगा और कोरोना वायरस के कारण उत्पन्न कठिनाइयों का सामना करने में भी मदद करेगा।

राजनाथ ने एनसीसी कैडेट्स के साथ बातचीत की 

राजनाथ ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि एनसीसी राष्ट्र को एकता, अनुशासन, सेवा के मूल्य प्रदान करता है। मैंने ऐप लॉन्च के दौरान एनसीसी कैडेट्स के साथ बातचीत की और उनके सवालों के जवाब भी दिए। मैं उनकी सफलता और उज्ज्वल भविष्य की कामना करता हूं। रक्षा मंत्री ने इस दौरान एक लाख से अधिक एनसीसी कैडेटों के योगदान की प्रशंसा की, जिन्होंने कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में विभिन्न कार्यों में फ्रंटलाइन कोरोना वर्कर्स का समर्थन किया।