ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
रायबरेली: घूस माँगना सीखना सिपाहियों को पड़ा महंगा, ऑडियो वायरल होने पर SO हुए सस्पेंड
June 18, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश : रायबरेली जनपद में इन दिनों थाना प्रभारी खीरी का एक ऑडियो खूब वायरल हो रहा है। इस वायरल ऑडियो में थानाध्यक्ष मणिशंकर तिवारी उपनिरीक्षकों और सिपाहियों को घूस मांगने और अवैध कमाई का तरीका समझा रहे हैं। वायरल ऑडियो का संज्ञान लेते हुए एसपी स्वप्निल ममगई ने एसओ साहब को सस्पेंड कर दिया है। साथ ही विभागीय जांच बैठाते हुए कार्रवाई की बात भी कही है।
बताया जा रहा है कि एसओ मणिशंकर तिवारी की पाठशाला में वे अपने मातहतों को अवैध कमाई का तरीका बताते हुए अपने कारनामों के किस्से सुना रहे थे।वायरल ऑडियो में SO साहब कह रहे हैं, ‘बालू की ट्रकें चल रही हैं. पकड़ो उन्हें. बालू की ट्रकों में ही पैसा है। तुम लोग महिला पकड़कर लाते हो तो उससे केवल हजार 2 हजार रुपये मिलेंगे, लेकिन खड़े करवाओ चार ट्रक।मैं खुद एआरटीओ को फोन करूंगा, चालान होगा 50 हजार का, थाने पर 10-15 हजार तो आएगा ही।नहीं देगा तो टांग तोड़ देंगे उसकी। जिंदगी बर्बाद कर दो जो नेतागीरी करे.’
वायरल ऑडियो में एसओ साहब खुद के अवैध कारनामों का भी बखान करते सुनाई दे रहे हैं। थानाध्यक्ष ने कहा कि तुम लोगों को पैसा कमाने की तमीज नहीं है।मुझसे सीखिए। जब मैं एएसआई था तब भी जमकर कमाया।एक सपा नेत्री थी, जितने बड़े आदमी को पकड़ोगे, उतना ही पैसा होगा, लेकिन हां, रिस्क भी होता है. पैसा कमाने के लिए सब झेलना पड़ता है। वायरल ऑडियो में एसओ मणिशंकर तिवारी भद्दी-भद्दी गलियों का भी प्रयोग कर रहे हैं।वे कह रहे हैं पुलिस कप्तान तो ईमानदार हैं, लेकिन बाकी सभ भ्रष्ट हैं और पैसा कमा रहे हैं।