ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
राष्ट्रवाद का झूठा ढोंग, योगी सरकार दोगुने दाम पर खरीद रही चीन का चिकित्सा उपकरण : संजय सिंह
September 10, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

 

दाता के नाम पर एयरपोर्ट और अन्नदाता के नाम पर बेईमानी

लखनऊ। आम आदमी पार्टी के सांसद और उत्तर प्रदेश के प्रभारी संजय सिंह ने कोरोना काल में एक बड़े चिकित्सीय घोटाले का खुलासा किया।उन्होंने कहा कि श्मशान में दलाली खाने वाली योगी सरकार ने 145000 के हेमेटोलॉजी एनालाइजर को 330000 में खरीदा।इतना ही नहीं चीन के नाम पर झूठे राष्ट्रवाद का ढोंग करने वाली भारतीय जनता पार्टी ने इन चाइना निर्मित उपकरणों की खरीद की। यह भी प्रदेश की एक, नहीं बल्कि 20-20 जिलों में। इस महामारी के काल में जब लोगों का जीवन जा रहा है। योगी सरकार आपदा में अवसर तलाश रही है और भ्रष्टाचार करने में जुटी हुई है। आप सांसद ने अयोध्या के एयरपोर्ट अधिग्रहण मामले में किसानों का पक्ष लेते हुए कहा कि प्रदेश की योगी सरकार भगवान श्री राम के नाम पर एयरपोर्ट बनवा रही है और दाता के नाम पर अन्नदाता के साथ बेईमानी करने में जुटी है।
सिंह ने पत्रकार वार्ता में कहा कि  यह वार्ता उत्तर प्रदेश की जनता की आंखें खोलने के लिए बुलाई गई है। प्रदेश सरकार भ्रष्टाचार करने में डूबी हुई है और एक नहीं तमाम चिकित्सीय उपकरणों की खरीद में घोटाले और भ्रष्टाचार का मामला सामने आ रहा है। इसके पहले चिकित्सीय उपकरणों की खरीद में भ्रष्टाचार का मामला सामने आया जो लगभग 65 जिलों में फैला हुआ। आज जो  खुलासा करने जा रहा हूं,इस घोटाले के 20 जिलों में होने की जानकारी है। यह बढ़ सकती है। यह घोटाला भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रवाद के ढोंग को खोलती है। भारतीय जनता पार्टी के चीन के विरोध की नौटंकी को खोलता है।ऐसे समय में जब भारत और चीन के बीच युद्ध की स्थिति बनी हुई है सीमा पर तनाव की स्थिति है। योगी की सरकार चीन का चिकित्सीय उपकरण इस कोरोना के संकटकाल में खरीद रही है।गवर्नमेंट की जो वेबसाइट है,जेम पोर्टल है। जेम पोर्टल में जाके आप साफ तौर पर देख सकते हैं कि एक कंपनी जो हेमटोलॉजी एनालाइजर देश में बनाती है, भारत में बनाती है, उसका दाम ₹145000 का दिया हुआ है। भारत में ही उत्पादन करने वाली एक अन्य कंपनी का यही सामान 178000 में है। इस एनालाइजर की खरीद में प्रतापगढ़ का एक घोटाला सामने आया है। डीएम इंटरप्राइजेज को प्रतापगढ़ जिले से 24 हेमेटोलॉजी एनालाइजर की खरीद का टेंडर दिया गया है जो ₹330000 की दर से कुल 79 लाख का है। अब इसके चाइना के लिंक के बारे में बताते हैं। डीएम इंटरप्राइजेज कहता है कि वह जेनसेवा पार्ट 3 एच 1 एनालाइजर देगा,उपलब्ध कराएगा। वेबसाइट पर जाने पर दिखेगा की इसका ओरिजिन चीन का है,चीन में बनता है,सब कुछ डिटेल में उपलब्ध है। उन्होंने बताया कि इस एनालाइजर की खरीद के लिए प्रदेश में सीएमओ देवरिया बदायूं हरदोई शाहजहांपुर मेरठ सहारनपुर अलीगढ़ बुलंदशहर मथुरा और अंबेडकरनगर तथा दूसरे प्रोडक्ट की खरीद के लिए सीएमओ आगरा बदायूं हरदोई बरेली मेरठ शाहजहांपुर अलीगढ़ उन्नाव बुलंदशहर मथुरा देवरिया कन्नौज अंबेडकर नगर की ओर से टेंडर दिया गया है। अभी कुल 20 जिलों में खरीद की जानकारी मिली है यह संख्या बढ़ भी सकती है। खरीद में अंधाधुंध लूट और भ्रष्टाचार इसको रोना का के संकट में किया गया 145000 का उपकरण 330000 में खरीदा जा रहा है। इतना बड़ा घोटाला भ्रष्टाचार योगी को कैसे नींद आती होगी? रोजाना वह टीम 11 की बैठक करते हैं। क्या रेट की जानकारी नहीं मिलती ?क्या आक्सीमीटर के रेट की जानकारी नहीं मिली? थर्मामीटर के रेट की जानकारी नहीं मिली ?एलाइजर के रेट की जानकारी नहीं मिली? वीडियो गेम खेलने वाले एसपी गोयल प्रमुख सचिव क्या पैसे का कमीशन गिन रहे थे ?इस पर सीबीआई इंक्वायरी कराएंगे, जरूरत पड़ी तो कोर्ट भी जाएंगे।इस कोरोना काल में योगी सरकार के ताबूत घोटाला जैसे इस घोटाले को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।यह श्मशान में दलाली खाने के समान,कोयला घोटाले के समान है
कहा कि अयोध्या में श्रीराम एयरपोर्ट का निर्माण हो रहा है। प्रभु श्री राम के नाम पर वहां से तमाम किसान मुझसे मिलने आए हैं।तंज करते हुए कहा कि वहां जो एयरपोर्ट के लिए जमीनों का अधिग्रहण किया जा रहा है उसमें भी योगी सरकार घोटाला कर रही है। भगवान श्री राम के नाम पर बनने वाले एयरपोर्ट के जमीन अधिग्रहण में किसानों के साथ बेईमानी की जा रही है।धर्मपुर सहादत के किसानों का कहना है कि सरकार में साफ़ प्रावधान है कि पिछले 3 सालों में जिस दाम पर क्षेत्र में जमीनें बिक रही हैं उस दाम पर ही जमीन का मुआवजा दिया जाए।पहले ग्रामसभा थी अब नगर निगम हो चुका है। यह सारी जमीन शहरी हो गई है, बावजूद इसके योगी सरकार जमीन का जो मुआवजा दे रही है वह सुनकर आपको हंसी आएगी।एक लाख रुपए विश्वा अर्थात  ₹800000 बीघा। किसान भगवान श्री राम के नाम पर बन रहे एयरपोर्ट के लिए जमीन देना चाहते हैं लेकिन इनको सटे गांव जनौरा के बराबर 74 लाख रुपया बीघा मुआवजा दिया जाए।

गांव के किसान वीरेंद्र कुमार तिवारी ने अपना और अन्य किसानों का दुखड़ा सुनाया कहा कि घर बार-बार जमीन सब एयरपोर्ट में ली जा रही है कुछ भी नहीं बच रहा है हम छह-सात महीने से दौड़ रहे हैं लेकिन कोई सुनने वाला नहीं है डीएम कह रहे हैं जो रेट दे रहे हैं वह एहसान कर रहे हैं सांसद का कहना है कि जो दे रहे हैं वह ले लो। सरकार से प्रधानमंत्री आवास योजना में ढाई लाख का लाभ दिला देंगे।