ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
पुलिस के लिए सट्टा का खेल चुनौती बना
October 5, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

पुलिस के लिए सट्टा का खेल चुनौती बना
 
सर्विलांस विभाग सवालों के घेरे में

फतेहपुर।सट्टा के खेल में भी सत्ताआईपीएल का समय है। हर वो व्यक्ति जो इस खेल को खेलना चाहता है वह अपनी किस्मत आजमा रहा है। फड़ सज चुकी है। आने वाले आ भी रहे। अब तक कई लाख रुपयों का वारा न्यारा हो चुका है। सवाल उठता है कि क्या पुलिस को इसकी कानो कान खबर है। सर्विलांस के सहारे अपराधियों तक पहुंचने वाली संस्था एसओजी भी सटोरियों तक नहीं पहुंच पा रही या पहुंचना नहीं चाह रही। ऐसे सवालों के बीच एसओजी टीम का घिरना जारी है। सटोरियों के कुछ प्यादे कोतवाली पुलिस के चंगुल में आए भी तो सट्टा के इस खेल में सत्ता ने बाजी मार ली।
सट्टा का यह खेल कोई ताश के पत्तों वाला नहीं है कि जहां चार यार मिल जाएं वही किस्मत आजमा ली जबकि यह खेल भी बिना पुलिस की सहमति से नहीं खेला जा सकता। अब जब हाई प्रोफाइल खेल की बात करें तो फिर सट्टा का खेल सामने आ जाता है। इस खेल को एक नहीं बल्कि कई जगह खेला वह खिलाया जा रहा है। आईपीएल के हो रहे खेल से जोड़कर लोग खेल रहे हैं। लाखों रुपए इस खेल में लग भी रहे। शहर छोटा है उसके बाद यह कहना की इसकी जानकारी पुलिस को नहीं है तो हसी आना स्वाभाविक है और ऐसे बचकाने जवाब पर गुस्सा भी आता है। सर्विलांस के जरिए अपराधियों तक पहुंचने को लेकर माहिर एसओजी टीम का हाथ पर हाथ रखकर सब कुछ मौन बन कर देखना सवालों के घेरे में खड़ा करता है। पुलिस के मौन होने के कारण ही इस खेल में क़िस्मत आजमाने वालो की संख्या में दिन दूना रात चौगुना इजाफा हो रहा है।
यदि सूत्रों की माने तो सट्टा के होने वाले खेल में सत्ता के कुछ लोग भी शामिल हैं जो समय समय पर पुलिस पर दबाव बनाकर ऐसे लोगों को बचाने का प्रयास भी करते हैं अभी कुछ दिन पहले सट्टा खिलाने वालों में से कुछ लोग पकड़ कर कोतवाली लाए गए थे।जिन्हे सत्ता के गलियारों से आए फोन के बाद छोड़ना पड़ा। ऐसे में पुलिस चाह कर भी कार्रवाई नहीं कर पाती। फिर भी सवाल तो कोतवाली पुलिस के साथ-साथ एसओजी टीम से पूछे जाएंगे की  लोगों को कंगाल बनाने वाले इस खेल को अब तक क्यों नहीं बंद कराया गया।खुली  दुकानों के शटर गिराने में क्यो पीछे हट रही है पुलिस।