ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
प्रणब मुखर्जी की तबीयत स्थिर, वेंटिलेटर सपोर्ट पर चल रहा फेफड़ों में इन्फेक्शन का इलाज
August 21, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

नई दिल्ली, पिछले कई दिनों से अस्पताल में भर्ती पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की स्वास्थ्य स्थिति फिलहाल स्थिर है। दिल्ली कैंट के आर्मी रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल उनका इलाज चल रहा है, वहां के डॉक्टरों के अनुसार, प्रणब मुखर्जी  की चिकित्सा स्थिति समान है। फेफड़े के संक्रमण के लिए उनका इलाज किया जा रहा है। साथ ही बताया कि वह अभी भी वेंटिलेटरी सपोर्ट पर  ही है।उनके महत्वपूर्ण मापदंडों को बनाए रखा जा रहा है।

इससे पहले गुरुवार को अस्पताल की तरफ से कहा गया था कि प्रणब मुखर्जी के स्वास्थ्य में हल्का सुधार हो रहा है। इससे पहले फेफड़े में संक्रमण की वजह से उनकी हालत बिगड़ने लगी थी। वह पिछले 10 दिनों से अस्पताल में भर्ती हैं और ब्रेन सर्जरी के बाद वेंटिलेटर सपोर्ट पर हैं। गौरतलब है कि विशेषज्ञों की एक टीम लगातार उनकी स्थिति की मॉनिटरिंग कर रही है।

 इससे पहले गुरुवार को अस्पताल की तरफ से कहा गया था कि प्रणब मुखर्जी के स्वास्थ्य में हल्का सुधार हो रहा है। इससे पहले फेफड़े में संक्रमण की वजह से उनकी हालत बिगड़ने लगी थी। वह पिछले 10 दिनों से अस्पताल में भर्ती हैं और ब्रेन सर्जरी के बाद वेंटिलेटर सपोर्ट पर हैं। गौरतलब है कि विशेषज्ञों की एक टीम लगातार उनकी स्थिति की मॉनिटरिंग कर रही है। 

फेंफड़ों में इन्फेक्शन के बाद तबीयत बिगड़ी

वहीं, बुधवार को  पूर्व राष्ट्रपति की फेफड़ों में इन्फेक्शन होने की बात अधिकारियों ने बताई थी। इस कारण  उनकी तबीयत और ज्यादा खराब हो गई। पूर्व राष्ट्रपति के बेटे अभिजीत मुखर्जी ने कहा था कि उनके पिता की हालत स्थिर बनी हुई है। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा था कि आप सभी की शुभकामनाओं और डॉक्टर्स के ईमानदार प्रयासों के कारण मेरे पिता की हालत अब स्थिर है। उन्होंने बताया कि उनका स्वास्थ्य नियंत्रण में है और डॉक्टर उनकी देखरेख कर रहे हैं।

10 अगस्त को अस्पताल में हुए थे भर्ती

जानकारी के लिए बता दें कि 84 वर्षीय पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को 10 अगस्त को ब्रेन क्लॉट की  सर्जरी के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था, इसके बाद जब उनकी कोरोना वायरस के लिए जांच की गई तो वह कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे।