ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
प्रधान की हत्या के बाद भीड़ ने फूंकी चौकी, तोड़फोड़-फायरिंग और पथराव 
August 16, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

 

आजमगढ़ । तरवां थाना क्षेत्र में शुक्रवार को घर से बुलाकर ग्राम प्रधान को गोलियों से भून दिया गया। हत्या की खबर पाकर मौके पर पहुंच रही पुलिस की गाड़ी से कुचलकर एक बच्चे की मौत हो गई। दोनों घटनाओं से लोग भड़क गए और बोंगरिया बाजार पुलिस चौकी पर धावा बोल कर आग लगा दी। 
वाहनों में तोड़फोड़ की। पुलिस पर पथराव किया। पुलिस ने भी हवाई फायरिंग की। एसपी त्रिवेणी सिंह आसपास के कई थानों की फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए। अंधेरा होने के चलते पुलिस को भीड़ पर काबू पाने में दिक्कत आई। 
ढाई घंटे बाद स्थिति पर नियंत्रण पाया जा सका। डीएम राजेश कुमार, कमिश्नर, डीआईजी भी मौके पर पहुंचे। तरवां थाना क्षेत्र के बांसगांव के प्रधान सत्यमेव जयते उर्फ पप्पू राम (45) पुत्र सुखराम को कुछ लोगों ने फोन कर गांव स्थित श्री कृष्ण पीजी कालेज के पोखरी के पास बुलाया। 
प्रधान के मौके पर पहुंचते ही पहले से मौजूद लोगों ने प्रधान के सिर में छह गोलियां मार कर हत्या कर दीं। इसके बाद बदमाश प्रधान के घर पर पहुंचे और घटना की सूचना देने के बाद आराम से गांव से निकल गए। 
प्रधान की हत्या की जानकारी पुलिस को मिलते ही हड़कंप मच गया। आनन-फानन में पुलिस टीम रवाना हो गई। इसी दौरान बोंगरिया बाजार चौकी के पास पुलिस की गाड़ी की चपेट में आकर गांव के ही सूरज (12) पुत्र जयश्री की मौत हो गई। 
दो-दो घटनाओं से ग्रामीण आक्रोशित हो उठे। ग्रामीणों की भीड़ ने पुलिस चौकी पर धावा बोल दिया। आगजनी में चौकी पर चार बाइक भी जल गईं। बवाल बढ़ता देख कई थानों की पुलिस फोर्स मौके पर पहुंच गई।
 पुलिस ने की हवाई फायरिंग
भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस की तरफ से हवाई फायरिंग भी की गई। इस दौरान ग्रामीणों ने पुलिस पर पथराव किया। शाम सात बजे से शुरू हुआ बवाल साढ़े नौ बजे तक जारी रहा। इस दौरान पुलिस व भीड़ के बीच लुकाछिपी का खेल चलता रहा। बोंगरिया बाजार चौकी से लेकर प्रधान के गांव तक लोग सड़क पर उतर पड़े।