ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
प्राचीन नगरी खजुहा  में करोड़ों रुपए की ग्राम समाज की जमीन पर अवैध कब्जा।
September 12, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

 

बिंदकी फतेहपुर
कभी छोटी काशी नगरी से प्रसिद्ध खजुआ कस्बा ऐतिहासिक नगरी रही है यहां राजा रजवाडों का कब्जा जा रहा है यहां कितने तालाब एवं कुए हैं इतने संपूर्ण उत्तर भारत में नहीं होंगे। परंतु प्रशासनिक उदासीनता के चलते यह सब अपनी दुर्दशा पर आंसू बहा रहे हैं। बिंदकी के पहले खजुहा में ही तहसील थी। परंतु कुछ नेताओं ने अपने स्वार्थ के चलते  तहसील को बिंदकी ले आए।
बताते चलें कि खजुहा  बाग बादशाही में एक ग्राम समाज की जमीन पड़ी है। जो लगभग 2 बीघे की करीब लगभग है। यह जमीन पूर्व में तालाब की परंतु लोगों ने मिट्टी डाल डाल कर अपने कब्जे में कर रखा है यह जमीन करोड़ों रुपए की कीमती है परंतु राजस्व विभाग की मिलीभगत से लोगों ने उक्त तालाबी रकबे.में अवैध कब्जा रख कर रखा है इस और अब यह देखना है कि प्रशासन की निगाहें कहां तक जाएंगी ऐसा नहीं है कि प्रशासन सब कुछ जानता हुआ भी  कुंभकरण की नींद में सोया हुआ है। नगर के वरिष्ठ नागरिकों ने बताया कि खजुहा कस्बा अपने आप में एक रजवाड़ों का गढ़ रहा है परंतु कुछ अराजक तत्वों ने ग्राम समाज की जमीन पर अवैध कब्जा कर रखा है इस और प्रशासन को ध्यान देने की जरूरत है।