ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
फर्जी वन दरोगा चला रहा था ठगी का रैकेट, भेजा गया जेल 
August 20, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

 

खुटार । मंगलवार को पकड़े गए फर्जी वन दरोगा सतनाम सिंह को बुधवार को जेल भेज दिया है। खुटार के एक व्यक्ति ने सतनाम सिंह और वन विभाग के दो सेवानिवृत्त कर्मचारियों पर संविदा पर नौकरी दिलाने के नाम पर तीन लाख रुपये ठगने का आरोप लगाते हुए रिपोर्ट दर्ज कराई है। उसने आरोपियों पर कई अन्य लोगों से भी ठगी करने का आरोप लगाया है।
गौरतलब है कि खुटार के तिकुनिया चौराहे के पास गांव बुझिया निवासी सतनाम सिंह खुद को वन दरोगा और जनपद लखीमपुर में तैनाती बताता था। उसने वन दरोगा की वर्दी पहने हुए तमाम फोटो भी सोशल मीडिया पर डाल रखे थे। सतनाम सिंह के फर्जी वन दरोगा बनकर घूमने और लोगों को ठगने की शिकायत उच्च अधिकारियों को हुई तो पुलिस ने उसे पकड़ लिया। 
थानाध्यक्ष जयशंकर सिंह ने बताया कि उसके पास से वन विभाग की एक सरकारी वर्दी, नेमप्लेट सहित बरामद हुई थी। पूछताछ में सतनाम सिंह ने खुद को फारेस्टर के पद पर तैनात बताया। उसके पास से एक फर्जी नियुक्ति पत्र भी मिला है। सतनाम ने पुलिस को बताया कि उसे नियुक्ति पत्र साबिर अली ने दिया था, जो सेवानिवृत्त वन उपनिरीक्षक हैं और जनपद लखीमपुर के मैलानी कस्बे में रहते हैं। पूछताछ में सतनाम पुलिस को भ्रमित करता रहा और खुद को कभी किशनपुर रेंज तो कभी मैलानी रेंज में तैनात बताता रहा।