ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
नेपाल के प्रधानमंत्री की कुर्सी पड़ी खतरे में, केपी शर्मा ओली ने बुलाई कैबिनेट की बैठक
July 1, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • दुनिया

काठमांडु। नेपाल में सियासी हलचल तेज हो गई है। भारत विरोधी प्रस्ताव पारित करने को लेकर प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। नेपाल के सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने पार्टी की स्थायी समिति की बैठक में ओली से इस्तीफे की मांग की। इसके बीच ओली ने आज सुबह मंत्रियों के साथ परामर्श करने के लिए कैबिनेट की बैठक बुलाई है।

नेपाल के पूर्व पीएम और कम्युनिस्ट पार्टी के अध्यक्ष पुष्प कमल दहल प्रचंड ने मंगलवार को केपी शर्मा ओली के इस्तीफे की मांग करते हुए कहा कि हाल में उनके द्वारा की गई भारत विरोधी टिप्पणी ना तो राजनीतिक रूप से सही है और ना ही राजनैतिक रूप से उचित है।

हिमालयन टाइम्स के अनुसार, मंगलवार को आयोजित नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी की स्थायी समिति की बैठक में ओली द्वारा भारत के खिलाफ हालिया विवादास्पद बयानों को लेकर बहस हुई। झलनाथ खनाल ने कहा कि प्रधानमंत्री ने केवल अपने व्यक्तिगत हितों को पूरा करने के लिए काम कर रहे हैं।

बता दें कि इससे पहले ओली ने भारत पर अपनी सरकार गिराने की कोशिश करने का आरोप लगाया था। पीएम ओली के बयान पर हैरानी जाहिर करते हुए प्रचंड ने कहा है कि पीएम का इस्तीफा भारत नहीं बल्कि वह मांग रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया गया कि सरकार भारत के साथ सीमा विवाद पर बातचीत करने में विफल रही है।