ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
नमस्कार बाल मानव श्रृंखला बना दीपावली  पर पटाखा, जुआ व नशा मुक्त के दीप जलाने का दिया संदेश
November 12, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

नमस्कार बाल मानव श्रृंखला बना दीपावली  पर पटाखा, जुआ व नशा मुक्त के दीप जलाने का दिया संदेश

-असत्य पर सत्य की विजय  पर्व दीपावली पर नशा जुआ का करें त्याग-ज्योति बाबा

कानपुर 12 नवंबर l भारत की खुशहाली के लिए ज्योति बाबा ने इस बार दीपावली पर्व पर पटाखा,प्रदूषण,कुपोषण,कोरोना,जुआ व नशा मुक्त के दीप जलाने का सभी धर्म साधकों से आव्हान किया, क्योंकि इन कुरीतियों के कारण मातृशक्ति व बच्चों के साथ बुजुर्गों को सबसे ज्यादा शारीरिक मानसिक व आर्थिक पीड़ा सहनी पड़ती है उपरोक्त बात सोसाइटी योग ज्योति इंडिया के तत्वाधान में कोरोना मिटाओ नशा हटाओ पटाखा मिटाओ बेटी बचाओ अभियान के तहत के ई एम हॉल फूलबाग के सामने आयोजित नमस्कार बाल मानव श्रृंखला के समापन पर ज्योति बाबा ने कहीं, ज्योति बाबा श्री ने आगे कहा की दीपावली पर्व स्वच्छता सफाई स्वास्थ्य हरियाली के साथ असत्य पर सत्य की जीत का संदेश देती है इसीलिए जुआ नशा से दूर रहकर घर परिवार बच्चों के साथ हंसी-खुशी गणेश लक्ष्मी का पूजन कर शांति समृद्धि और प्रेम बढ़ाएं l बाबा श्री ने बताया कि हम खुशियों में पटाखे छुड़ाने के विरुद्ध नहीं हैं लेकिन इस बार कोरोना काल के चलते जहां पिछले वर्ष वायु प्रदूषण और पटाखे के कारण ए क्यू आई 800 अंक तक पटाखों व प्रदूषण के चलते पहुंच कर अस्थमा रोगियों के साथ बुजुर्गों के जीवन पर खतरा मंडरा गया था जबकि इस बार बीमार होने पर ऑक्सीजन के सिलेंडरों की कमी के साथ वृक्षों की संख्या भी काफी कम *नमस्कार बाल मानव श्रृंखला बना दीपावली  पर पटाखा, जुआ व नशा मुक्त के दीप जलाने का दिया संदेश*

*---असत्य पर सत्य की विजय  पर्व दीपावली पर नशा जुआ का करें त्याग-ज्योति बाबा*
न्यूज आफ फतेहपुर
कानपुर 12 नवंबर l
 भारत की खुशहाली के लिए ज्योति बाबा ने इस बार दीपावली पर्व पर पटाखा,प्रदूषण,कुपोषण,कोरोना,जुआ व नशा मुक्त के दीप जलाने का सभी धर्म साधकों से आव्हान किया, क्योंकि इन कुरीतियों के कारण मातृशक्ति व बच्चों के साथ बुजुर्गों को सबसे ज्यादा शारीरिक मानसिक व आर्थिक पीड़ा सहनी पड़ती है उपरोक्त बात सोसाइटी योग ज्योति इंडिया के तत्वाधान में कोरोना मिटाओ नशा हटाओ पटाखा मिटाओ बेटी बचाओ अभियान के तहत के ई एम हॉल फूलबाग के सामने आयोजित नमस्कार बाल मानव श्रृंखला के समापन पर ज्योति बाबा ने कहीं, ज्योति बाबा श्री ने आगे कहा की दीपावली पर्व स्वच्छता सफाई स्वास्थ्य हरियाली के साथ असत्य पर सत्य की जीत का संदेश देती है इसीलिए जुआ नशा से दूर रहकर घर परिवार बच्चों के साथ हंसी-खुशी गणेश लक्ष्मी का पूजन कर शांति समृद्धि और प्रेम बढ़ाएं l बाबा श्री ने बताया कि हम खुशियों में पटाखे छुड़ाने के विरुद्ध नहीं हैं लेकिन इस बार कोरोना काल के चलते जहां पिछले वर्ष वायु प्रदूषण और पटाखे के कारण ए क्यू आई 800 अंक तक पटाखों व प्रदूषण के चलते पहुंच कर अस्थमा रोगियों के साथ बुजुर्गों के जीवन पर खतरा मंडरा गया था जबकि इस बार बीमार होने पर ऑक्सीजन के सिलेंडरों की कमी के साथ वृक्षों की संख्या भी काफी कम हो चुकी है हम विकास के नाम पर पेड़ तो काटते चले जा रहे हैं लेकिन उस तीव्रता से नई ग्रीन जोन नहीं बना पाए हैं इसीलिए इस कोरोना मौसम में अप्रत्याशित रूप से रोगियों की संख्या इतनी बढ़ गई कि सरकारी के साथ प्राइवेट हॉस्पिटल तक भर गए और सरकार ने भी लगभग हाथ से खड़े कर लिए l
नमस्कार बाल मानव श्रंखला के द्वारा हम सब मिलकर कोरोना काल में सामूहिक दीपावली मनाने के साथ पटाखा प्रदूषण व नशा मुक्त का जमीनी कार्य कर सकते हैं योग ज्योति के सभी बच्चों ने हाथ जोड़कर शहर वासियों से पटाखा नशा व जुआ से दूर रहकर घर परिवार की खुशियां बरकरार रखने हेतु प्रार्थना की है कार्यक्रम का सुंदर संचालन सुश्री संध्या ने किया l
अन्य भाग लेने वाले प्रमुख पुष्पा शीला मनोरमा किशोर दुर्गाशंकर कृष्णा मयंक स्वामी गीता इत्यादि थी l चुकी है हम विकास के नाम पर पेड़ तो काटते चले जा रहे हैं लेकिन उस तीव्रता से नई ग्रीन जोन नहीं बना पाए हैं इसीलिए इस कोरोना मौसम में अप्रत्याशित रूप से रोगियों की संख्या इतनी बढ़ गई कि सरकारी के साथ प्राइवेट हॉस्पिटल तक भर गए और सरकार ने भी लगभग हाथ से खड़े कर लिए l
नमस्कार बाल मानव श्रंखला के द्वारा हम सब मिलकर कोरोना काल में सामूहिक दीपावली मनाने के साथ पटाखा प्रदूषण व नशा मुक्त का जमीनी कार्य कर सकते हैं योग ज्योति के सभी बच्चों ने हाथ जोड़कर शहर वासियों से पटाखा नशा व जुआ से दूर रहकर घर परिवार की खुशियां बरकरार रखने हेतु प्रार्थना की है कार्यक्रम का सुंदर संचालन सुश्री संध्या ने किया l
अन्य भाग लेने वाले प्रमुख पुष्पा शीला मनोरमा किशोर दुर्गाशंकर कृष्णा मयंक स्वामी गीता इत्यादि थी l