ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
नई पदोन्नति नीति के खिलाफ दलित अभियंता भड़के
August 11, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

 

 

आंदोलन का किया ऐलान

लखनऊ।पावर कारपोरेशन प्रबंधन द्वारा गुपचुप दलित अभियंताओं की पदोन्नति रोकने के लिए लायी जा रही नयी पदोन्नति नीति के खिलाफ दलित अभियंता भड़के। किया आंदोलन का ऐलान।  पावर आफीसर्स एसोशिएसन प्रदेश में जारी किया अलर्ट  रहे आंदोलन के लिए तैयार।
 ऊर्जा मंत्री के निर्देश के बाद भी कुछ उच्चाधिकारी नहीं आ रहे बाज , दलित अभियंताओं के साथ षड़यंत्र कर रहे हैं ऊर्जा मंत्री के निर्देश के बाद भी पावर कारपोरेशन के कुछ उच्चाधिकारी दलित अभियंताओं की पदोन्नति को रोकने के लिए नयी पदोन्नति नीति लाने का षड़यंत्र कर रहे हैं जिसकी भनक लगते ही  पावर ऑफिसर्स एसोसिएशन ने अविलम्ब एक आपात बैठक बुलाई जिसमे एसोसिएशन के सभी पदाधिकारियों ने सर्व सम्मति से यह निर्णय लिया है की यदि प्रबंधन द्वारा दलित अभियंताओं की पदोन्नति को रोकने के लिए कोई भी षड़यंत्र किया गया और नयी पदोन्नति नीति लायी जाती है उसी क्षण पुरे प्रदेश के दलित अभियंता आंदोलन पर चले जायेंगे।  सभी पदाधिकारियों ने कहा विगत माह  ऊर्जा मंत्री  के साथ बैठक में  ऊर्जा मंत्री द्वारा दलित अभियंताओं के साथ कोई अन्याय नहीं होगा और पुरानी नीति से ही पदोन्नति होगी का निर्देश प्रमुख सचिव ऊर्जा को दिया गया था इसके बावजूद भी अभी भी ऊर्जा मंत्री जी के निर्देशों का उल्लंघन करते हुए जो उच्चाधिकारी दलित विरोधी षड़यंत्र में जुटे हैं जल्दी ही उनकी शिकायत माननीय ऊर्जा मंत्री से मिलकर की जाएगी।  
उ0प्र0 पावर आफीसर्स एसोशिएसन के  कार्यवाहक अध्यक्ष अवधेश कुमार वर्मा अतरिक्त महासचिव  अनिल कुमार ,सचिव  आरपीकैन ट्रांस्को अध्यक्ष महेंद्र सिंह  संगठन सचिव अजय कुमार सहित एसोसिएशन कार्यकारिणी के सदस्य आर एस प्रसाद , चंद्र विशाल, सुनील कुमार, राम शब्द, सी बी सिंह,  ऐ के सिंह, जे पी कौशल, राम बुझारत, आनंद कनोजिया, अजय कनौजिया, राज कपूर गौतम 
ने प्रदेश के सभी दलित एवं पिछड़े वर्ग के अभियंताओं को आंदोलन के लिए तैयार रहने को कहा है किसी भी क्षण एसोसिएशन द्वारा दलित विरोधी नीति के खिलाफ आंदोलन का ऐलान किया जा सकता है जिसकी पूरी जिम्मेदारी  कारपोरेशन प्रबंधन की होगी ।  पहले प्रबंधन ने सपा सरकार में दलित अभियंताओं को रिवर्ट कराकर अपमानित किया और अब उनका सम्मान जब वापस होना है फिर दलित विरोधी नीति लायी जा रही है जिसका एसोसिएशन मुंह तोड़ जवाब देगा   करो या मारो की तर्ज पर आंदोलन किया जायेगा।