ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
नए मास्क को धोकर ही पहने
June 25, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • कोविड-19 (कोरोना वायरस)


- बिना मास्क पहने घर से निकलना हो सकता है जानलेवा
- मास्क पहने के साथ स्वच्छता का भी रखें ख्याल
फतेहपुर।

कोरोना वायरस के कारण दुनिया भर में कोहराम मचा हुआ है। इस वायरस ने लोगों के मन में इतना खौफ पैदा कर दिया है कि लोग घर से बाहर निकलने, ऑफिस जाने, बच्चों को स्कूल भेजने और किसी सामाजिक कार्यक्रम जैसे बर्थडे पार्टी, शादी-विवाह आदि में जाने से भी कतराने लगे हैं। कोविड- 19 यानि कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोकने मे मास्क की अहम भूमिका है। जनपद मे सभी के लिए इसे पहनना भी अनिवार्य  कर दिया गया है, जिला प्रशासन ने बिना मास्क पहने बाहर निकलने पर जुर्माना भी तय कर दिया है। प्रशासन के इस प्रयास मे सहयोग कर हम कोरोना संक्रमण को मात दे सकते है। लेकिन यदि मास्क पहनने मे सावधानी न रखी जाय तो मास्क, संक्रमण से बचाने की बजाय हमे बीमार भी कर सकता है। ऐसे मे मास्क तो पहने लेकिन वह साफ और स्वच्छ भी होना चाहिए। विशेषज्ञ बताते हैं कि मास्क पहनना आवश्यक नहीं है, आप रुमाल या अन्य सूती कपड़े का भी इस्तेमाल कर सकते हैं बशर्ते वह स्वच्छ और साफ हो।
इस दौरान कोरोना संक्रमण रोकने में मास्क एक अहम् भूमिका अदा कर रहा है। देश के कई राज्यों में इसे पहनना अनिवार्य कर दिया गया हैं। अगर हम इसे सही तरीके से प्रयोग करते हैं तो हम काफी हद तक कोरोना संक्रमण को रोकने में कामयाब होंगे। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ उमाकांत पांडेय का कहना है कि केवल मास्क पहन लेने से कोरोना वायरस से नहीं बचा जा सकता है, अगर गलत तरीके से मास्क पहना गया तो कोरोना संक्रमण का खतरा और बढ़ जाता है। मास्क पहनने के साथ-साथ आप हाथों की स्वच्छता पर जरूर ध्यान दें। हाथों को साबुन और पानी या फिर अल्कोहल आधारित हैंड रब से बार-बार धोते रहें। साथ ही कहा कि अगर आपको सर्दी, जुकाम, छींक और खांसी आ रही तो मास्क का प्रयोग जरूर करें।
बताया संक्रमण से बचने के लिए लोग बाजार मे मिलने वाले साधारण मास्क या घरों मे बनाए कपड़ों के मास्क या रुमाल अथवा गमछे का भी उपयोग कर सकते हैं, बस ध्यान यह रखें कि मास्क इस तरह पहना जाय कि नाक, मुंह और ठोड़ी ढक जाय। विशेष ध्यान देने की बात यह है कि मास्क का प्रयोग एक बार करने के बाद उसका दुबारा तभी इस्तेमाल करें जब उसे धोकर धूप मे सूखा लें। यही बात रुमाल और गमछे के उपयोग मे भी लागू होती है। क्योंकि मास्क हम जिन सूक्ष्म कीटाणु, जीवाणुओं से बचने के लिए पहनते हैं वे उसकी ऊपरी सतह पर आ जाते हैं। जैसे ही उसे हम उतारते हैं वैसे ही हाथ के जरिए वे ऊपर से अंदर और चारो तरफ फैल जाते हैं।  इसलिए जब तक उसे धोया न जाय तब तक उसका उपयोग हानिकारक हो सकता है।
उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी और कोविड 19 के नोडल डॉ केके श्रीवास्तव का कहना है कि मास्क का प्रयोग बैक्टीरिया और वायरस से सुरक्षा देने में काफी मददगार है पर सिंगल यूजर मास्क का दोबारा प्रयोग ना करें, मास्क हटाने के लिए इसे फीते से पकड़े ना कि सामने से पकड़कर उतारें, इस्तेमाल करने के पश्चात मास्क को अच्छी तरह से डिस्पोज करके फिर हाथों को साबुन और पानी या फिर अल्कोहल आधारित एंड रब से साफ कर लें।
जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा इश्तियाक अहमद का कहना है कि कोरोना संक्रमण से बचने के लिए लोग बाजार में मिलने वाले या घर में बनाये गए मास्क का प्रयोग कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि अगर हम बाजार से साधारण मास्क खरीदकर प्रयोग कर रहे हैं तो इसका प्रयोग केवल एक ही बार कर सकते है।ं साथ ही जो लोग सर्जिकल मास्क या कपडे से बने मास्क का प्रयोग कर रहे हैं, वे उसका दोवारा इस्तेमाल तभी करें जब उसे अच्छी तरह धोकर धूप में सुखा लें।

इनसेट -
मास्क पहनते वक्त इन बातों का रखें ध्यान -
-मास्क पहनने से पहले अपने हाथों को साबुन पानी या फिर ऐल्कॉहॉल बेस्ड हैंड सैनिटाइजर से अच्छी तरह से साफ कर लें।
- अपनी नाक और मुंह को मास्क से अच्छी तरह से ढंक लें ताकि मास्क और चेहरे के बीच कोई गैप न रहे।
- मास्क पहने हुए हैं तो उसे बार-बार गंदे हाथों से टच ना करें।
- सिंगल यूज मास्क को दोबारा बिलकुल यूज न करें और हर बार एक नए मास्क का इस्तेमाल करें।
- मास्क को हटाते वक्त उसे सामने से बिलकुल टच न करें और पीछे की तरफ से पकड़ कर खोलें और तुरंत ऐसे डस्टबिन में डालें जिसमें ढक्कन लगा हो।
- उसके बाद एक बार फिर हाथों को साबुन पानी या सैनिटाइजर से अच्छी तरह से साफ कर लें।

ध्यान रखने योग्य बातें -
- हर 6 घंटे के अंदर मास्क बदल दें।
- गीला होने पर भी मास्क बदला जाना जरूरी है।
- मास्क को इस तरह पहने कि बीच मे कोई गैप न हो।
- पहनने के बाद मास्क को छूने से बचें।
- किसी भी सूरत मे मास्क को अपने गले मे लटकाने से बचें।
- मास्क उतारने के बाद हाथों को अच्छी तरह साबुन पानी या सैनिटाइजर से धो लें।

फेकें नहीं मास्क को नष्ट कर दें-
मास्क को इस्तेमाल करने के बाद उसे डस्टबीन या कहीं भी खुली जगह न फेंके। इसे जला दें या जमीन मे गाड़ दें।  क्योंकि इस्तेमाल किए गए मास्क को यदि सही तरह नष्ट नहीं किया गया और इन्हे किसी पशु या जानवरों ने खा लिया तो इनमे भी संक्रमण हो सकता है।

नए मास्क का भी धोकर करें इस्तेमाल- 
इन दिनों शहर सहित कई ग्रामीण इलाकों मे लोग मास्क बना रहे हैं। कई जगह लोग इसकी बिक्री करते हैं तो कई समाज सेवी गरीबों मे मास्क का वितरण भी कर रहे हैं। ऐसे मे अगर आपको कोई मास्क दे अथवा आप मास्क खरीदें तो पहले उसे धो लें इसके बाद ही उसका इस्तेमाल करें।  क्योंकि मास्क बनने से लेकर वितरण तक कई हाथों से गुजरता है। ऐसे मे उसे धोकर ही इस्तेमाल करें तो ज्यादा सुरक्षित रहेगा।