ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
मुख्यमंत्री  से दक्षिण कोरिया की इलेक्ट्रिक व्हीकल बनाने वाली एडिसन मोटर्स के प्रतिनिधि मण्डल ने की भेंट
August 17, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

मुख्यमंत्री  ने निवेशकों को हर सम्भव सहायता देने का दिया आश्वासन

निवेशकों की सुविधा के लिए इलेक्ट्रिक व्हीकल पालिसी को पुनरीक्षित कर और अधिक आकर्षक बनाया जायेगा
 
(न्यूज़)।उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से उनके 5 कालीदास मार्ग स्थित आवास पर इलेक्ट्रिक व्हीकल बनाने वाली दक्षिण कोरिया के एडिसन मोटर्स के प्रबंध निदेशक  वाई.के.ली के नेतृत्व में एक प्रतिनिधि मण्डल ने भेंट की और प्रदेश में इलेक्ट्रिक व्हीकल प्लांट लगाने की इच्छा प्रकट की। मुख्यमंत्री ने प्रतिनिधि मण्डल को आश्वस्त करते हुए कहा कि राज्य सरकार द्वारा निवेशकों को हर सम्भव सहायता प्रदान की जायेगी।

मुख्यमंत्री  ने कहा कि निवेशकों की सुविधा के लिए इलेक्ट्रिक व्हीकल पालिसी को पुनरीक्षित करके और अधिक आकर्षक बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि उपभोक्ता की दृष्टि से उत्तर प्रदेश देश में सबसे अधिक जनसंख्या वाला राज्य है। प्रदेश में सबसे अधिक एक्सप्रेस-वे और हाइवे हैं। निवेशकों के लिए निवेश मित्र पोर्टल संचालित हैं।

मुख्यमंत्री  ने कहा कि उत्तर प्रदेश का दक्षिण कोरिया के साथ बहुत पुराना संबंध है। इसको और आगे बढ़ाने के प्रयास किये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश और दक्षिण कोरिया के बीच व्यापारिक गतिविधियों के आदान-प्रदान से दोनों देशों के संबंध प्रगाढ़ होंगे और प्रदेश में औद्योगीकरण को बढ़ावा मिलेगा।

 श्री ली ने मुख्यमंत्री को कम्पनी के इतिहास के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि एडिसन मोटर्स द्वारा प्रथम चरण में 500 से 700 करोड़, द्वितीय चरण में 1000-1500 करोड तथा तृतीय चरण में 2000-3000 करोड़ का निवेश किया जायेगा। इससे क्रमशः प्रथम चरण में 2000, द्वितीय चरण में 3000 तथा तृतीय चरण के निवेश में लगभग 5000 लोगों को रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे।

     श्री ली ने यह भी अवगत कराया कि एडिसन मोटर्स द्वारा 90 प्रतिशत से अधिक कलपुर्जे उत्तर प्रदेश में बनाये जायेंगे। इससे यहां की सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम इकाइयों को भी लाभ होगा। उन्होंने बताया कि प्लांट लगाने के लिए लखनऊ के आस-पास तथा यमुना एक्प्रेस-वे के निकट भूमि के चयन की कार्यवाही की जा रही है। उन्होंने मुख्यमंत्री  के प्रति धन्यवाद व्यक्त करते हुए कहा कि उनके द्वारा दिये गये आश्वासन से वे पूरी तरह संतुष्ट है और उनकी कंपनी उत्तर प्रदेश में ही निवेश करेगी। 

इस मौके पर अपर मुख्य सचिव, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम डा0 नवनीत सहगल, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त  आलोक टण्डन एवं स्थानीय निवेशकर्ता विवेक लधानी मौजूद थे।