ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
मुख्यमंत्री ने किसान की बेटी बीएड की छात्रा के ऑपरेशन के लिए दिए 9 लाख 90 हजार रुपये 
August 21, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश


नरेशन । गोरखपुर, केंद्र व प्रदेश सरकार के अभियान बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के तहत बेटियों के उज्जवल भविष्य के लिए लगातार कार्य कर रहा है ऐसे में बेटियों की किसी भी समस्या की जानकारी होने पर सरकार खुद सामने आकर मदद के हाथ बढ़ाती है जिससे बेटियां आत्मनिर्भर व स्वावलंबी बन सके। इसी क्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को मछली गांव निवासी एवं बीएड की छात्रा मधुलिका मिश्रा के हृदय के दोनों वाल्ब बदलने के लिए 9 लाख 90 हजार रुपये स्वीकृत कर दिए हैं। मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष से यह राशि मेदांता हॉस्पिटल को दी गई है। इसकी जानकारी स्वयं मुख्यमंत्री ने छात्रा के पिता राकेश चंद्र मिश्रा को पत्र भेज कर दी है, उन्होंने पत्र में इस बात का जिक्र भी किया है की धनराशि से ऑपरेशन के बाद स्वस्थ होकर छात्रा आगे की पढ़ाई जारी रख सकेगी। जिस पर परिजनों ने मुख्यमंत्री के प्रति आभार जताया है।

नरेशन - कैंपियरगंज विधानसभा क्षेत्र के मछली गांव की रहने वाली बीएड की छात्रा मधुलिका मिश्रा के घर वालों के ऑपरेशन के लिए प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री, पूर्व केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री शिव प्रताप शुक्ला व सांसद रवि किशन शुक्ला से मदद की अपील की थी। मधुलिका ने अपनी अपील में कहा था कि किसान परिवार की इकलौती बेटी हूं, मां की मौत बचपन में हो गई थी। पिता राकेश चंद्र मिश्र कृषि कार्य करते हैं, दो भाई हैं जो पढ़ाई के साथ कृषि कार्य में पिता का सहयोग करते हैं। पिता की बदौलत बीएड द्वितीय वर्ष में पढ़ाई कर रही हूं, अचानक सांस लेने में तकलीफ हुई तो भाई ने गोरखपुर के एक निजी अस्पताल में दिखाया डॉक्टर ने जांच के बाद बताया कि वाल्ब खराब है। इसके बाद भाई लखनऊ स्थित मेदांता अस्पताल लेकर गए जहाँ डॉक्टरों ने बताया कि दोनों बाल खराब है, जिसे बदलना पड़ेगा। इसका खर्च लगभग 10 लाख के आस पास आएगा वही डॉक्टरों ने ऑपरेशन के लिए 24 अगस्त तक का समय परिवार वालो को दिया है। किसान परिवार होने के नाते इतने रुपए नहीं है कि मेरे घरवाले मेरे दोनों वाल्ब बदलवा सके। वही परिजनों ने इस संबंध में स्थानीय विधायक फतेहबहादुर सिंह से मुलाकात कर उन्हें मदद करने की अपील की जिस पर स्थानीय विधायक ने पत्र लिखकर मुख्यमंत्री को अपने क्षेत्र की इस बिटिया के बीमारी के बारे में अवगत कराते हुए लगभग 9 लाख 90 हजार रुपये का एस्टीमेट बनाकर प्रस्तुत किया जिस पर मुख्यमंत्री ने तत्काल मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष से धनराशि स्वीकृत कर दी राकेश चंद्र मिश्र को पत्र भेजकर शुभकामना दी कहा कि ऑपरेशन के बाद बेटी ठीक होगी फिर आगे की पढ़ाई पूरी कर सकेगी मुख्यमंत्री की इस दरियादिली से राकेश को उनके परिवार के साथ क्षेत्र की जनता में खुशी की लहर दौड़ पड़ी है।