ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
मृतकों के परिजनों से मिले विधायक आपदा राहत कोष से आर्थिक मदद दिए जाने की कही बात
September 3, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश


दिन पहले कच्चा मकान ढहने से मां-बेटे की हुई थी मौत
गृह स्वामी का बैंक में खाता ना होने से अभी नहीं मिल सका ₹800000
 ग्रामीणों तथा महिलाओं ने विधायक से बताएं नाली खड़ंजा आवास की समस्या
बिंदकी फतेहपुर
1 दिन पहले कच्चा मकान ढहने से मां बेटी की मौत की घटना के दूसरे दिन क्षेत्रीय विधायक गांव पहुंचे उन्होंने परिजनों से मिलकर आपदा राहत कोष से आर्थिक मदद दिलाए जाने का भरोसा दिया उन्होंने परिजनों से बताया कि गृह स्वामी का खाता बैंक में ना होने के कारण पैसा ट्रांसफर नहीं हो पाया। खाता खुलते ही पैसा पहुंच जाएगा। इस मौके पर ग्रामीणों ने गांव में नाली खरंजा आवास तथा अन्य समस्याएं भी बताई।
            बताते चलें कि कोतवाली बिंदकी क्षेत्र के घनवा खेड़ा गांव में बुधवार की देर शाम को राहुल सोनकर का अचानक कच्चा मकान ढह गया था जिसके चलते राहुल सोनकर की पत्नी सारिका देवी तथा पुत्री सुहानी की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई थी हालांकि ग्रामीण लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे थे जहां पर चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया था इस घटना में गृहस्वामी राहुल सोनकर की मां गंगा देवी 4 वर्षीय पुत्र आयुष तथा 9 माह की पुत्री छोटी देवी गंभीर घायल हुई थी जिनको सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया था घटना के दूसरे दिन गुरुवार को बिंदकी क्षेत्र विधायक करण सिंह पटेल गांव पहुंचे और मृतक मां बेटी के परिजनों से मिले और आश्वासन दिया कि उन्हें मां बेटी की मौत में चार चार लाख यानी कुल ₹800000 की आर्थिक मदद आपदा राहत कोष द्वारा दी जाएगी इसके अलावा घर के मरम्मत के लिए अलग से पैसा मिलेगा इस मौके पर परिजनों ने कहा कि कई बार आवास योजना के चलते कॉलोनी की मांग की गई थी लेकिन नहीं मिल पाई थी वही गांव के तमाम लोग व महिलाओं ने क्षेत्रीय विधायक से गांव में नाली खरंजा जलभराव की समस्या बताई उन्होंने कहा कि तमाम लोगों के पास शौचालय नहीं है और आवास नहीं है क्षेत्रीय विधायक ने ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि जल्द ही उनकी सभी समस्याएं हल की जाएंगी इस मौके पर क्षेत्रीय विधायक करण सिंह पटेल ने कहा कि गृह स्वामी राहुल सोनकर का बैंक में कोई खाता नहीं था इसलिए जो ₹800000 आज ट्रांसफर होना था वह नहीं हो पाया है एक या 2 दिन में बैंक में खाता खुलवाया जाएगा और सीधे ₹800000 गृह स्वामी राहुल सोनकर के खाते में भेज दिया जाएगा इसके अलावा घर के मरम्मत ई करण के लिए अलग से पैसा ट्रांसफर किया जाएगा