ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
मोबाइल रिचार्ज कराने के चक्कर में रिटायर्ड कर्मचारी ने गवाया 17 लाख 78 हजार रुपए
October 24, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

मोबाइल रिचार्ज कराने के चक्कर में रिटायर्ड कर्मचारी ने गवाया 17 लाख 78 हजार रुपए

प्रयागराज l साइबर अपराधियों के हौसले दिनों दिन बुलंद होते जा रहे हैं l किसी ना किसी को अपने जाल में फंसा कर खाते से मोटी रकम गायब कर दे रहे हैं l ऐसा ही मामला एक प्रयागराज में आया हैl सेवानिवृत्‍त कर्मचारी के खाते से 17 लाख रुपये गायब हो गए। इस मामले में 3 लोगों पर मुकदमा दर्ज कर पुलिस मामले की जांच पड़ताल करने में जुट गई है l जानकारी के अनुसार कीडगंज खलासी मोहल्ले में रहने वाले घनश्याम 3 माह पहले केंद्रीय आयुध भंडार छिवकी से सेवानिवृत्त हुए थे l मोबाइल रिचार्ज कराने के चक्कर में उनके खाते से 17 लाख 78 हजार रुपये उड़ गए। पीड़ित रिटायर्ड कर्मचारी घनश्याम ने स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआइ) बाई का बाग ब्रांच के मैनेजर अविनाश शुक्ला व राहुल समेत तीन के खिलाफ साइबर थाने में मुकदमा दर्ज कराया है l कीडगंज थाना क्षेत्र के खलासी लाइन मुहल्ले में रहने वाले घनश्याम का खाता एसबीआइ बाई का बाग में है। एफआइआर के मुताबिक, बीते माह उन्होंने योनो अप्लीकेशन के जरिए 598 रुपये का रिचार्ज अपने बैंक खाते से किया। पैसा कटने के बावजूद रिचार्ज नहीं हुआ तो उन्होंने बैंक में जाकर शिकायत की। फिर संबंधित संचार कंपनी के दफ्तर में दो बार शिकायत की। इसके बाद भी रुपये वापस नहीं आए।
पांच दिन पहले घनश्याम के पास एक अनजान नंबर से कॉल आई और उसने खुद को संचार कंपनी का कर्मचारी राहुल बताया। फिर उसने खाता व आइएफससी कोड पूछा। कुछ देर बाद रिटायर्ड कर्मचारी के खाते से 598 रुपये वापस आ गए। इसी दौरान शातिर ने घनश्याम को अपने झांसे में फंसा लिया और मोबाइल पर आने वाली ओटीपी भी पूछता रहा। कई बार में लाखों रुपये कट गए। बेटे का फोन आने पर पता चला कि बैंक खाते से पैसा कट रहा है। तब उन्होंने बैंक जाकर ब्रांच मैनेजर अविनाश शुक्ला से शिकायत करते हुए खाता बंद करने का अनुरोध किया।