ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
मिट्टी और पौधे के बीच खेलने से बच्चों का प्रतिरक्षा तंत्र होता है मजबूत
October 17, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

मिट्टी और पौधे के बीच खेलने से बच्चों का प्रतिरक्षा तंत्र होता है मजबूत

(न्यूज़)पार्क और हरे-भरे जगहों में खेलने वाले बच्चे कंक्रीट या सड़कों पर खेलने वाले बच्चों की तुलना में ज्यादा मजबूत होते हैं।ऐसे बच्चों का प्रतिरक्षा तंत्र ज्यादा मजबूत होता है।एक हालिया शोध में यह खुलासा हुआ है।पूर्व के शोधों में भी बताया गया है कि शहरों में रहने वाले लोगों में प्रतिरक्षा तंत्र से संबंधित बीमारियां होने का खतरा ज्यादा होता है क्योंकि वहां हरियाली की कमी होती है।ऐसे में अस्थमा,एग्जिमा जैसी बीमारियां होने का खतरा रहता है।फ़िनलैंड  के शोधकर्ताओं ने 4 नर्सरी के खेलने के जगहों पर पौधे-घास और मिट्टी डालकर उसका नवीनीकरण किया।उन्होंने पाया कि सिर्फ 1 महीने के अंदर बच्चों पर सकारात्मक असर हुआ। हरियाली वाली जगहों पर खेलने वाले बच्चों की त्वचा ज्यादा सख्त हुई और उनकी आंत में माइक्रोबायोटा भी मौजूद हुए। इससे बच्चों को प्रतिरक्षा तंत्र मजबूत हुआ।इस शोध के परिणामों से पता चलता है कि शहर में आने वाले बच्चों को पार्क या मिट्टी वाली जगहों पर खेलने देने से उनका प्रतिरक्षा तंत्र मजबूत होता है।यूनिवर्सिटी ऑफ हेलसिंकी के शोधकर्ताओं की टीम ने 10 नर्सरी के 75 बच्चों पर अध्ययन किया।