ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
मनमानी निरोधात्मक कार्रवाईयों में दो थानाध्यक्ष सहित 8 दरोगाओं को एसडीएम का नोटिस
October 14, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

मनमानी निरोधात्मक कार्रवाईयों में दो थानाध्यक्ष सहित 8 दरोगाओं को एसडीएम का नोटिस

थरियांव थाना में नाबालिग तो मलवां में वर्षों से मुंबई में रह रहे व्यक्ति पर लगा दिया गया मिनी गुंडा एक्ट

छह सब इंस्पेक्टरों ने भी अपने-अपने क्षेत्रों में की मनमानी कार्रवाईयां

उपजिलाधिकारी सदर प्रमोद झा ने 19 अक्टूबर को सभी को साक्ष्य सहित किया है तलब

इन्हीं मनमानियों के चलते आम जनता खाकी का कभी नहीं कर पायी ऐतबार
                    

फतेहपुर। जिले की पुलिस निरोधात्मक कार्रवाईयां मनमाने तरीके से करने में हातिम है। आमजन को न्याय देने में पुलिस का रवैया ज्यादातर पेचीदा ही रहा है।इसी का नतीजा है कि लोग खाकी को कभी मित्र के रुप में देख ही नहीं पाए।ऐसी ही मनमानी कार्रवाईयों का एक सजरा सदर एसडीएम ने तैयार कराया है।जिसमें पुलिस द्वारा मनमाने तरीके से एक थाने में नाबालिग तो दूसरे में कई वर्षों से मुंबई में रह रहे व्यक्ति पर मिनी गुंडा एक्ट की कार्रवाई कर दी गयी। इतना ही नहीं 6 सब इंस्पेक्टर भी ऐसे चिन्हित हुए हैं जिन्होंने निरोधात्मक कार्रवाइयाँ करने में मनमानी की ।दो थानाध्यक्ष सहित 8 दरोगाओं को उपजिलाधिकारी प्रमोद झा ने साक्ष्य सहित 19 अक्टूबर को अपने न्यायालय में हाजिर होने का आदेश दिया है।
उपजिलाधिकारी सदर का जारी आदेश मनमानी करने वाले इन पुलिस वालों को अब भारी पड़ता नजर आ रहा है। पुलिस की मनमानी जिले में किसी से छिपी नहीं है।आम जनता को छोटे-छोटे मामलों में भी खाकी सुलभ न्याय नहीं दे पा रही है जबकि ताकतवर व राजनैतिक संरक्षण वाले लोगों के ऊपर उनकी मेहरबानियां जग जाहिर हैं।पंचायत चुनाव का अभी बिगुल फुंका नहीं है लेकिन थानों-थानों में निरोधात्मक कार्रवाईयों का सिलसिला मनमाने तरीके से शुरू हो गया है।पुलिस बेपरवाही व उदासीनता के साथ निरोधात्मक कार्रवाईयां कर रही है।इनमें कई मामलों में शिकायतें अधिकारियों तक पहुंची हैं। थरियांव थाना में तैनात रहे विनोद कुमार सिंह ने एक नाबालिग रमन प्रताप सिंह निवासी रमवां के विरुद्ध जहां मिनी गुंडा एक्ट की कार्रवाई कर दी।वहीं मलवां थानाध्यक्ष शेर सिंह राजपूत ने ऐसे व्यक्ति के ऊपर मिनी गुंडा एक्ट लगा दिया जो गत कई वर्षों से मुंबई में रह रहा है।इसकी पुष्टि ग्राम प्रधान ने भी लिखित रूप से देकर की है। 
पुलिस की यही मनमानियां आम जनता से दूरी बनाने के लिए काफी रहीं हैं। नतीजा रहा है की  आम जनता खाकी का कभी ऐतबार ही नहीं कर पाई।इतना ही नहीं शाह चौकी में रहे एसआई संदीप तिवारी ने शिवसेवक विश्वकर्मा के ऊपर मनमाने तरीके से कार्रवाई कर दी।मलवां थाना में रहे एसआई राजेंद्र यादव,एसआई मनवीर सिंह,एसआई सुरेश तिवारी,एसआई घनश्याम शुक्ला व एसआई उमाशंकर द्वारा अपने-अपने क्षेत्रों में की गई कार्रवाईयां भी मनमानी के दायरे में आई हैं। जिनकी शिकायतें पीड़ितों ने अधिकारियों तक पहुंचाई हैं। कार्रवाई के लिए उपजिलाधिकारी न्यायालय पहुंची पत्रावलियों ने कई राज खाकी की मनमानी के खोले हैं। अब उपजिलाधिकारी प्रमोद झा ने इन थानाध्यक्षों एवं सब इंस्पेक्टरों को की गई कार्रवाईयों पर 19अक्टू. को साक्ष्य सहित उपस्थित होने के निर्देश जारी कर नोटिस दी है। पुलिसिया मनमानी पर जारी हुई नोटिसों के बाद संबंधित थानाध्यक्ष एवं एसआई बेचैन हैं। इस फंद से निकलने के लिए जुगत-जुगाड़ तलाश रहे हैं।