ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
कोटा आवंटन के बाद भी प्रधान के दस्तखत ना होने के कारण नहीं उठा पा रही ओम स्वयं सहायता समूह की महिलाएं राशन
October 19, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

कोटा आवंटन के बाद भी प्रधान के दस्तखत ना होने के कारण नहीं उठा पा रही ओम स्वयं सहायता समूह की महिलाएं राशन।

हुसैनगंज/फतेहपुर

 हुसैनगंज थाना क्षेत्र के भिटौरा ब्लाक के अंतर्गत आने वाले ग्राम सहिमापुर मजरे उन्नौर में बीते 1 माह पूर्व कोटा आवंटन प्रक्रिया शुरू हुई थी। इस कोटा आवंटन प्रक्रिया में त्यागी स्वयं सहायता समूह की महिलाओं ने वी.डी. ओ. द्वारा कोटा ओम स्वयं सहायता समूह के पाले में दिए जाने के विरोध में खूब हंगामा काटा था। लेकिन एस.डी.एम साहब,व बीडीओ की सहमति से कोटा ओम स्वयं सहायता समूह को दे दिया गया। लेकिन  असली समस्या तो अब शुरू हुई जब ओम स्वयं सहायता समूह के कार्यकर्ताओं द्वारा राशन उठाने की बात आई तो ग्राम प्रधान सोमता सिंह पत्नी रमेश सिंह  ग्राम सहिमापुर ने दस्तखत करने से मना कर दिया। ओम स्वयं सहायता समूह ने कई बार ग्राम प्रधान सोमता सिंह से दस्तखत करने के लिए अनुनय- विनय किया फिर भी प्रधान के कानों में जूं तक नहीं रेंगी और ग्राम प्रधान सोमता सिंह ने दस्तखत करने से साफ इंकार कर दिया।ओम स्वयं सहायता समूह ने जब सेक्रेटरी सत्येंद्र कुमार व ग्राम प्रधान  सोमता  सिंह से  दस्तखत करने को कहा तो उन्होंने उनसे ₹50000 की मांग की पैसा ना दे पाने की वजह से आज लगभग 1 महीने से ज्यादा हो गए ग्राम प्रधान ने कागजों पर दस्तखत नहीं किए और ना ही सेक्रेटरी ने दस्तखत किए ओम स्वयं सहायता समूह की महिलाएं दस्तखत न होने की वजह से काफी प्रताड़ित दिखी किसी भी प्रकार से आला अधिकारियों के न चुने जाने के बाद आज ओम स्वयं सहायता समूह की महिलाएं व गांव की सैकड़ों महिलाओं ने जिलाधिकारी महोदय को ज्ञापन सौंपा और जल्द कार्रवाई करने की मांग रखी ताकि ग्रामीणों को समय से राशन मिल सके। वही गांव वालों ने बताया कि इस समय उनका राशन बसोहनी के कोटेदार के यहां से मिलता है । कई महीनों से सुशील तिवारी जोकि बसोहनी गाँव के कोटेदार हैं। वह लोगों से अंगूठा तो लगवा लेते हैं किंतु गल्ला नहीं देते जब लोग उनसे पूछते हैं तो उन्हें बताते हैं कि राशन खत्म हो गया हर महीने  कम से कम 50 लोगों का गल्ला सुशील तिवारी द्वारा काट लिया जाता है। जिसकी शिकायत आज महिलाओं ने जिलाधिकारी महोदय से किया। जिलाधिकारी महोदय को ज्ञापन सौंपते समय साहबगंज, मिठनपुर किरतु व गडरियन पुरवा की महिलाओं ने कोटा की समस्या को जल्द निस्तारण न किए जाने पर धरने पर बैठने की बात कही लोगों से बात करते हुए उनकी समस्याओं का अंदाजा सिर्फ इसी बात से लगाया जा सकता है कि ओम स्वयं सहायता समूह के पक्ष में जो सैकड़ों महिलाएं आई थी उन्होंने ग्राम प्रधान सोमता सिंह, सेक्रेटरी सत्येंद्र कुमार, बसोहनी के कोटेदार सुशील तिवारी के द्वारा किए जा रहे कार्यों से क्षुब्ध होकर आज जिलाधिकारी महोदय के दफ्तर तक आ पहुंचे। आलम अगर यही रहा तो वह दिन दूर नहीं जब गांव की महिलाएं वाकई धरने पर बैठ जाएगी विभागीय अधिकारियों को इस बाबत ध्यान देना होगा और ग्रामीणों की समस्याओं को ध्यान में रखते हुए त्वरित कार्यवाही कर कोटा ओम स्वंय सहायता समूह को दिया जाए जिससे लोगों को समय से रासन मिल सके।