ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
कोरोना को गंभीर होने से रोक सकता है विटामिन डी, मौत का खतरा हो जाता है कम, जानें Vitamin D के स्रोत
September 26, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

कोरोना संक्रमण को गंभीर होने से रोकने में विटामिन डी की भूमिका सामने आई है। वैज्ञानिकों ने अध्‍ययन में पाया है कि विटामिन डी का पर्याप्त स्तर होने से किसी रोगी में कोरोना के चलते गंभीर जटिलताओं और मौत का खतरा कम हो सकता है। इस माह के शुरू में एक अन्य अध्ययन में पाया गया था कि विटामिन डी की कमी के चलते कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है।

विटामिन डी एक हार्मोन है, जिसकी उत्पत्ति हमारी त्वचा सूर्य की रोशनी के संपर्क में आने पर करती है। यह शरीर में कैल्शियम और फॉस्फेट की मात्रा को नियंत्रित करने में मदद करता है, जो हड्डियों, दांतों और मांसपेशियों को स्वस्थ रखने के लिए बेहद जरूरी है। पीएलओएस वन पत्रिका में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार, अस्पताल में भर्ती किए गए उन कोरोना रोगियों की हालत बिगड़ने और मौत के खतरे में उल्लेखनीय कमी पाई गई, जिनमें विटामिन डी का पर्याप्त स्तर था।यह निष्कर्ष 235 रोगियों पर किए गए एक अध्ययन के आधार पर निकाला गया है। इन कोरोना रोगियों के रक्त के नमूनों में विटामिन डी के स्तर को मापा गया था। जिन पीडि़तों में विटामिन डी का स्तर कम रहा, उनमें गंभीर रूप से संक्रमण पाया गया। ऐसे पीडि़त अचेत रहे और सांस लेने में काफी तकलीफ का सामना करना पड़ा। विशेषज्ञों की मानें तो इम्यून सिस्टम को मजबूत करने के लिए विटामिन-सी और डी का ज्‍यादा सेवन करना चाहिए।