ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
किसानों की समस्याओं को लेकर गुलाबीगैंग लोकतान्त्रिक का धान क्रय केंद्र में हल्ला बोल 
November 21, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

किसानों की समस्याओं को लेकर गुलाबीगैंग लोकतान्त्रिक का धान क्रय केंद्र में हल्ला बोल 

धान क्रय सम्बंधित किसानों की समस्याओं को लेकर गुलाबी गैंग लोकतान्त्रिक नें धान क्रय केंद्र में बोला धावा 

मार्केटिंग इंस्पेक्टर के माध्यम से मुख्यमंत्री को प्रेषित किया ज्ञापन 

फतेहपुर।किसानों की धान क्रय सम्बंधित समस्याओं को लेकर गुलाबी गैंग लोकतान्त्रिक अध्यक्ष हेमलता पटेल के नेतृत्व में संगठन की महिलाएं ब्लाक बहुआ के लदिगवां में स्थित सरकारी धान क्रय केंद्र पहुंची एवं भ्रष्टाचार के विरुद्ध  जमकर नारेबाजी की |  मार्केटिंग इंस्पेक्टर,बहुआ के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन प्रेषित करते हुए समस्याओं के अतिशीघ्र निवारण किये जाने हेतु पुरजोर मांग की । धान क्रय केंद्र में उपस्थित किसानजन एवं प्रदर्शन कर रही महिलाओं नें सम्मिलित रूप से यह कहा की उन्हें उनके धान का निर्धारित सरकारी मूल्य 1868 रूपए नहीं मिल पा रहा है मात्र एक हजार रुपय में धान बेचने को मजबूर हैं और सरकारी खरीद केंद्रों में विक्रय हेतु दो महीने बाद का टोकन दिया जा रहा है ऐसे में हम सभी बहुत परेशानियों का सामना कर रहे हैं।गुलाबी गैंग लोकतान्त्रिक अध्यक्ष हेमलता पटेल नें कहा की  आज किसान कितनी बदहाली से रह रहा दिन रात खून, पसीना बहाते हुए अन्नदाता तो कहलाता है लेकिन स्वयं से इस प्रशासनिक ब्यवस्था के चलते ठगा सा महसूस कर रहा है | किसानों को उनके धान का सही मूल्य नहीं मिल पा रहा है और ना ही उनका धान सही समय पर विक्रय हो पा रहा है | कहने को तो टोकन तिथि से 40 दिन पूर्व खरीद हेतु कहा जा रहा है लेकिन हवा-हवाई  आखिर इतने दिन धान को किसान कहाँ संजो कर रखेगा उधर बिक्री नहीं होने पर रबी फसल बुआई हेतु खाद बीज कहाँ से मिलेगा अतः तत्काल खरीद हेतु ब्यवस्था सुनिश्चित की जाये और धान का सही मूल्य किसानों को दिलाया जाये | इन्ही प्रमुख मांगो को लेकर आज हमने मार्केटिंग इंस्पेक्टर, बहुआ के माध्यम से मुख्यमंत्री,उ. प्र. को ज्ञापन प्रेषित किया है । हमें आशा है कि समस्याओं का अतिशीघ्र निवारण  हो जायेगा अन्यथा किसानों के साथ-साथ कन्धा मिलाकर आंदोलन हेतु हम व हमारा संगठन बाध्य होंगे जिसकी सम्पूर्ण जिम्मेदारी शासन, प्रशासन कि स्वयं होगी | इस दौरान रेखा, सुधा, कलावती, शांती, रानी, राजरानी, प्रीती, मदीना, रामदुलारी, सरला, अनीता, मालती, सत्यवती, अंजना, पार्वती आदि महिलाएं मौजूद रहीं।