ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
खनन का काला खेल रात के अंधेरे में कैमरे में कैद प्रशासन मूकदर्शक की भूमिका में
November 1, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

खनन का काला खेल रात के अंधेरे में कैमरे में कैद प्रशासन मूकदर्शक की भूमिका में

जिम्मेदार आलाधिकारी की चुप्पी सवालों के घेरे में


बिंदकी-फतेहपुर-
खरबूजे को देख जैसे खरबूजा रंग बदलता है वैसे ही औंग थाना क्षेत्र को देख कल्यानपुर थाना क्षेत्र में भी शुरू हुआ रात के अंधेरे में खनन जनपद के चर्चित थाना क्षेत्रों में सुमार कल्यानपुर व औंग थाना क्षेत्र में लगातार रात के अंधेरे में खनन हो रहा है । जहां औंग थाना क्षेत्र के सगुनापुर मानिकपुर  शिवराजपुर में रात के अंधेरे में प्रतिदिन खनन होता है स्थानीय पुलिस के संरक्षण में तो वहीं दूसरी ओर कल्यानपुर थाना क्षेत्र के गौसपुर करनपुर भाऊपुर गांव के समीप  जेसीबी मशीनें धरती की कोख को खाली कर रही है। रात के अंधेरे में एक घर व 11 हजार लाइन के समीप ठेके के पास गरज रही जेसीबी मशीन  कैमरे में कैद हो चुकी है। इन सब से बेपरवाह  दोनों थानों की पुलिस अपनें यहाँ खनन होने से या तो इंकार कर देती है। या फिर जानकारी न होनें की बात बताती है। छोटे-छोटे मामलोँ में मोटर अधिनियम के तहत कार्रवाई करनें वाली खाकी कभी ओवर लोड डम्फर,व निर्धारित गति से तेज चलनें वाले ट्रैक्टर के खिलाफ आखिर क्यो नहीं करती कार्रवाई खनन विभाग, स्थानीय प्रशासन क्यों निभाता धृतराष्ट्र की भूमिका यह समझ से परे है।