ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
खजुहा मेले में जमकर उमड़ी भीड़
November 3, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

खजुहा मेले में जमकर उमड़ी भीड़
शासन की गाइडलाइन का पालन हुआ था तार तार

पुलिस की मौजूदगी में मीना बाजार में छेडखानी को लेकर कई बार हुआ झगड़ा

राम के हाथों हुआ रावण का वध

बिंदकी फतेहपुर 
ठाकुरद्वारा राम जानकी पंचायती मंदिर से पूजा अर्चना के उपरांत रामादल की सेना जैसे लंका में प्रवेश किया जय श्री राम के उद्घघोष नारे के बीच रावण दल की सेना में हांहाकार मच गया। राम की सेना ने जैसे ही रावण की सेना को ललकारा तत्पश्चात रामा दल की और रावण दल की सेना में युद्ध शुरू हो गया। रामा दल की सेना ने जैसे ही रावण दल के योद्धाओं को मारना शुरू किया मेघनाथ को गुस्सा आ गया उसने अपनी अश्वमेघ शक्ति का प्रयोग करते हुए लक्ष्मण पर वार किया तो लक्ष्मण मूर्छित हो गए रामा दल की सेना में शोकाकुल छा गया भगवान राम की करुण कुंदन की पुकार सुनकर लोगों के आंखों में आंसू आ गए परंतु सुषेवैध द्वारा बताई गई जड़ी-बूटी को लेकर जैसे हनुमान जी किष्किंधा पर्वत जड़ी बूटी लेकर आए वैध जी ने लक्ष्मण जी को सुघाया लक्ष्मण जी को होश आ गया रामा दल की सेना में खुशहाली छा गई फिर क्या था रामा दल की सेना ने रावण दल की सेना की सेना को ललकारते हुए युद्ध करने को कहां फिर एक बार घमासान युद्ध दोनों ओर  युद्धोंओ  के बीच हुआ धीरे धीरे करो रावण दल की संपूर्ण सेना रामा दल के हाथों मारी गई। इसी बीच जय श्रीराम के नारे लगने लगे इस मौके पर कमेटी के दयाराम उत्तम चमन लाल गुप्ता मनोज कुमार गुप्ता अर्जुन तिवारी संजय कुमार सहित बड़ी तादाद में मेला के सहयोगी मौजूद थे वही चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल के जवान मौजूद थे।
सबसे दिलचस्प बात यह बता दें कि मेला कमेटी ने मेला को कैंसिल कर दिया था परंतु एक मंत्री के दम पर यह मेला परंपरा के तहत हुआ। और शासन की गाइडलाइन का खुलेआम उल्लंघन हुआ। मेले में जो भी दर्शक आए वह बेधड़क होकर मेला देख रहे थे मुख में मार्क्स नहीं था। वही प्रशासन ने भी इन सब बातों को नजरअंदाज कर दिया क्योंकि मामला मंत्री जी का था।