ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
कस्बा बकेवर भी संक्रामक बीमारी (डेंगू) की चपेट में, आधा दर्जन से अधिक लोग बीमार
October 24, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

कस्बा बकेवर भी संक्रामक बीमारी (डेंगू) की चपेट में, आधा दर्जन से अधिक लोग बीमार

पीएचसी के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी ने कहा निजी अस्पतालों की जांच एथेन्टिक नहीं

बकेवर (फतेहपुर)।विकास खंड देवमई के कस्बा बकेवर में भी अब डेंगू पैर पसार रहा है ।अब तक डेंगू से एक आंगनवाड़ी कार्यकत्री की मौत हो चुकी है और कस्बे में कई लोग डेंगू की चपेट में है।
 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को इसकी खबर होने के बावजूद अभी तक कस्बा बकेवर में ना तो कोई कैंप लगाया गया है और ना ही एंटी लार्वा का छिड़काव कराया गया है। जिससे वायरल बीमारियां तेजी से फैल रही है।
कस्बा बकेवर के इंदुकांत का 10 वर्षीय पुत्र डेंगू की चपेट में है जिसका कानपुर के एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है। इसी तरह अंतस शुक्ला, सपना तिवारी भी डेंगू बुखार से ग्रसित हैं और उनका भी इलाज कानपुर में चल रहा है। कस्बे के ही शिक्षक गोविंद की सुपुत्री महिमा 18 वर्ष व किराना व्यवसाई महेश कुशवाहा 35 वर्ष भी डेंगू से ग्रसित है और उसका निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है ।अब तक लगभग आधा दर्जन डेंगू से ग्रसित लोगों का इलाज विभिन्न निजी अस्पतालों  में कराया जा रहा है ।
ग्रामीणों का कहना है कि डेंगू फैलने की जानकारी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को दी गई थी ।इसके बावजूद वहां से अभी तक कोई भी चिकित्सीय टीम नहीं आई है और ना ही कस्बे में एंटी लारवा का छिड़काव और फागिंग कराई गई है।कस्बे के चारों ओर गंदगी का साम्राज्य फैला हुआ है जिससे वायरल बीमारी तेजी से फैल रही हैं।
मालूम हो कि एक अक्टूबर से जनपद में सफाई अभियान चलाया जा रहा था। इसके बाद भी कस्बे में सफाई की कोई व्यवस्था नहीं हुई। जिससे बीमारियां तेजी से फैल रहे हैं।प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र देवमई के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ. रघुराज ने बताया कि अभी तक उन्हें कस्बा बकेवर में डेंगू फैलने की जानकारी नहीं है। डाक्टर रघुराज ने बताया कि मुख्य चिकित्सा अधिकारी अन्य अस्पतालों की जांचो को एथेन्टिक नहीं मानते हैं। जब जनपद की टीम परीक्षण करती है तभी ऑथेंटिक रुप से डेंगू की पुष्टि की जा सकती है ।उन्होंने कहा कि अब सूचना मिली है तो कस्बे में फागिंग कराई जाएगी।