ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
कर्नाटक जाली नोट मामले में एनआइए ने मुख्य आरोपित को किया गिरफ्तार
July 1, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • राष्ट्रीय

नई दिल्ली। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) ने कर्नाटक में जाली भारतीय करेंसी नोट (एफआइसीएन) फैलाने के आरोप में मुख्य आरोपित को गिरफ्तार किया है। एक अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी। प्रमुख जांच एजेंसी ने बताया कि एफआइसीएन से संबंधित गतिविधियों को बढ़ावा देने में शामिल आर. विजय को मंगलवार को गिरफ्तार किया गया।

अधिकारी ने बताया कि बंगाल के माल्दा से कर्नाटक में सितंबर 2018 में जाली नोट ले जाने वाले चार गिरफ्तार आरोपितों मोहम्मद सज्जाद अली, राजू एमजी, गंगाधर और वनिता जेके पास से 6,84,000 रुपये मूल्य के जाली नोट बरामद किए गए थे।एनआइए ने बताया कि जांच के दौरान साबिरुद्दीन और अब्दुल कादिर को भी बंगाल से गिरफ्तार किया गया था।

अधिकारी ने बताया कि जांच पूरी होने के बाद छह आरोपितों के खिलाफ एक आरोपपत्र और दो पूरक आरोपपत्र दायर किए गए थे। अधिकारी ने बताया कि विजय के खिलाफ तीसरा पूरक आरोपपत्र बेंगलुरु में एनआइए की विशेष अदालत में दायर किया जाएगा। उन्होंने बताया कि मामले की जांच अभी चल रही है।