ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
कांग्रेस ने बागियों और गद्दारों को सख्ती दिखानी शुरू की
July 14, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • राजनीति

न्यूज आफ फतेहपुर

दिल्ली।कांग्रेस का जो समय अब चल रहा है उससे खराब दौर अब तो आने से रहा, और जो इंसान या पार्टी बुरे वक्त में बोल्ड कदम नही उठाएगा वो मिट्टी में मिल जाता है,लंबे अरसे बाद कांग्रेस दफ़्तर से ऐसा सख्त कदम देखने को मिला जो मध्यप्रदेश में सिंधिया के लिए उठाया जाता तो शायद सचिन पायलट आज इतनी हिम्मत नही कर पाते,सिंधिया के मामले में जहां कांग्रेस लगातार सिंधिया को मनाने की जुगत में खुद को पूरी तरह से सिंधिया और उसके समर्थको के सामने नतमस्तक हो गई थी उसी से अंदाज़ा लग गया था कि अगला नम्बर सचिन का होगा कियूंकि ये दोनों युवा तुर्क अपने दिलो में कुछ ज़्यादा ही महत्वकांक्षा पाल बैठे थे,कांग्रेस के पुराने धुरंधर जिन्होंने कांग्रेस को इस मुकाम तक पहुंचाने में अपनी ज़िंदगी खत्म कर दी उनकी तमाम कुर्बानियों को ताक पर रखकर नए लड़के खुद को तीसमारखाँ समझने लगे थे,जहां सिंधिया मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री बनने के हसीन ख़्वाब देख रहे थे वहीं राजस्थान में सचिन पायलट समझ रहे थे कि राजस्थान में कांग्रेस की सरकार ही उनके बूते बनी है और मुख्यमंत्री का ताज उनके सिर पर सजना चाहिए,खैर जो गलती मध्यप्रदेश में कांग्रेस कर चुकी थी उसको राजस्थान में सुधार लिया गया और एक झटके में पार्टी नेतृत्व ने सचिन को उनकी औकात दिखाकर ज़मीन पर ला पटका,
मेरा मानना है कि भाजपा का जो दौर आज चल रहा है उससे बेहतर अब कभी नही आ सकता और जो वक़्त कांग्रेस का चल रहा है उससे बुरा भी आने से रहा, अब इस समय मे अगर कांग्रेस तमाम गद्दारों और बागियो को बाहर का रास्ता दिखाकर दुबारा से शुरुआत करे तो नतीजे आने में बहुत ज़्यादा वक़्त नही लगेगा,बस शर्त ये है कि कांग्रेस सब्र का दामन थामे रखे और भाजपा सरकार द्वारा की जा रही गलतियों को पकड़ कर जनता के सामने लाये और खुद को हरदम मुकाबले में तैयार रखे,सपा बसपा का ग्राफ़ अब नीचे की तरफ जा रहा है और राहुल प्रियंका का सरकार के खिलाफ लगातार हमलावर और मुखर रहना कहीं न कहीं त्रस्त जनता में ये यक़ीन दिला रहा है कि भाजपा का मुकाबला सिर्फ कांग्रेस ही कर सकती है छेत्रिय दल तो नही कर सकते,जिन दलों के अध्यक्ष ई डी और सी बी आई के छापों से डरकर घरों में बैठ जाएं वो लंबी रेस के घोड़े तो कतई नही हो सकते,
बहरहाल राजस्थान में कांग्रेस का ये बोल्ड कदम यक़ीनन कांग्रेस को मजबूत करेगा और गद्दारों को उनकी औकात दिखाने का काम करेगा और बाक़ी ऐसे महत्वाकांक्षी लोगों के लिए सख्त संदेश भी होगा।