ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
जोनिहा चौकी प्रभारी राजेंद्र कुमार त्रिपाठी की विदाई  समारोह में जुटी भारी भीड़
October 13, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

जोनिहा चौकी प्रभारी राजेंद्र कुमार त्रिपाठी की विदाई  समारोह में जुटी भारी भीड़ 

विदाई के वक्त नम हुई सभी की आंखें

जोनिहा (फतेहपुर)जोनिहा चौकी प्रभारी राजेंद्र कुमार त्रिपाठी का स्थानांतरण होने के बाद आज क्षेत्रीय लोगों ने उनकी विदाई की आपको बता दें कि करीब 1 वर्ष तक जोनिहा चौकी में तैनात रहे अपने कार्यकाल में उन्होंने गांजा दारू तमंचा गैंगस्टर जैसी गंभीर धाराओं में फरार अभियुक्तों को पकड़कर जेल के अंदर डालने का काम किया इतना ही नहीं उन्होंने कोरोना काल में गरीब लोगों की भरपूर मदद करने में भी पीछे  नहीं रहे ।उन्होंने अपने क्षेत्र में कोरोना काल में परेशान लोगों की भरपूर मदद की अपने पास से भी राशन किट वितरण करने का भी काम किया जनता के बीच में पुलिस की मित्रता भी गजब देखने को मिली  अपने कार्यकाल में उन्होंने कस्बा जोनिहा में गांजा की बिक्री पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाने का भी काम किया था कच्ची दारू छेत्र में बनने नहीं दी शाम ढलते ही मजाल नहीं होती थी कि चौराहे पर शराब पीकर कोई भी नंगा नाच करें 
ओवरलोडिंग पर भी जबरदस्त कार्रवाई करते रहे उनके कार्यकाल में दर्जनों ओवरलोड मोरम के ट्रक आज भी खड़े नजर आ रहे हैं अपने कार्यकाल में क्षेत्र पर नहीं होने दिया जुआ जैसे ही उनको सूचना मिलती अपने दल बल के साथ में उनके ऊपर कड़ी कार्रवाई करने का भी काम कर गए जुवाडियो पर आज भी खौफ  कायम है
 मालूम हो कि जोनिहा चौकी प्रभारी राजेंद्र कुमार त्रिपाठी का स्थानांतरण थाना चांदपुर जनपद फतेहपुर में हुआ है आज उनकी विदाई का कार्यक्रम था।  
तमाम कस्बा क्षेत्र के लोगों ने माला फूल पहनाकर जोरदार स्वागत करते हुए उनको विदा किया विदाई के वक्त तो लोगों की आंखों में आंसू तक आ गए खुद चौकी प्रभारी राजेंद्र कुमार त्रिपाठी अपनी आंखों पर आंसू नहीं रोक पाए क्षेत्र का ऐसा कोई भी गांव नहीं था जहां चौकी प्रभारी राजेंद्र कुमार त्रिपाठी अपने कार्यकाल में गए ना हो
पूरे कार्यकाल में पुलिस और जनता के बीच में गजब का तालमेल देखने को मिला कोरोना काल में कोरोना से बचाव के लिए अपनी गाड़ी पर लाउडस्पीकर लगाकर गांव-गांव तक प्रचार करते रहे जिसकी क्षेत्र में चर्चा आज भी हो रही है।अपने कार्यकाल में उन्होंने एक महिला की बचाई थी जान मालूम हो कि ससुराल से पीड़ित महिला ने कस्बा जोनिहा चौराहे में खा लिया था जहर जिसे खुद अपनी गाड़ी पर लाद कर समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बिन्दकी ले गए और उसकी जान बचाई उनके कार्यकाल को क्षेत्र की जनता भूल नहीं सकती।