ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश राज्य राजनीति अपराध विशेष विज्ञापन दुनिया कोविड-19 (कोरोना वायरस)
जिले में आंखे बंद किये बैठा शिक्षा विभाग,गली गली खुली कोचिंग
September 14, 2020 • ब्यूरो रिपोर्ट - न्यूज ऑफ फतेहपुर • उत्तर प्रदेश

 

सोसल डिस्टनसिंग और कोरोना का मजाक उड़ा रहे कोचिंग संचालक

फतेहपुर।रोज सुबह 5 बजे से ही जिले की मुख्य सड़कों पर बालक बालिकाओ को पीठ में बैग टांगे देखा जा सकता है उनके लिए जान जरूरी है या पढ़ाई करना, जहां एक तरह लोगो मे कोरोना दहसत फैला रहा है वही दूसरी तरफ जिले में कुकुरमुत्ते की तरह खुली कोचिंग संस्थाएं दे रही है कोरोना को बढ़ावा ,शासन के रोक के बाद भी लगातर बच्चो को बुलाया जा रहा है पढ़ने के लिए घरों में सामूहिक तौर पर ,एक तरह जिले से लेकर प्रदेश और देश में कोरोना का प्रकोप बढ़ता जा रहा है शासन द्वारा लगातार गाइड लाइन का पालन करना को कहा जा रहा है सोसल डिस्टनसिंग का पालन करने की अपील की जा रही है पर जिला में चोरी छुपे चल रहे कोचिंग संस्थानों द्वारा लगातार इनका मजाक बनाया जा रहा है ।
 शासन की तरफ से सभी संस्थानों को बंद रखने का आदेश भले ही जारी हो पर जब तक शिक्षा विभाग नही जागेगा तब तक इनपर नकेल लगाना मुश्किल है ।
 शासन इसकी तरफ जरा भी ध्यान नही दे रहा है क्या है इसकी वजह क्या प्रशासन को इसका कोई डर नही या वो नहो चाहता कि बच्चे बचे रहे कोरोना से,क्या प्रशासन और जिले के शिक्षा महकमे को ये नजर नही आता है ये पुलिस प्रशासन बिना मास्क पहने और पीठ में बैग लादे बच्चो से पूछने का कोई अधिकार नही की वो कोरोना में जहा एक तरह सारे स्कूल कोचिंग बन्द है और लोगो को घरों में रहने की सलाह दी जा रही है क्यों वो समूह बना कर सड़को पर घूम रहे है कुछ इस तरह कोरोना जैसी महामारी से उनको बचाया जा सकता है ।